Sunday, July 5, 2015

Poem on Diwali in Hindi


Poem on Diwali in Hindi for Kids. Deepawali Ka Tyohar Kavita, About Happy Deepavali Wishes, Festival of Lights Quotes Lines, Sms, Messages, Shayari, Slogans, Rhymes, Poetry. दिवाली पर कविता, दीपावली.

Poem on Diwali in Hindi

(Published in India Link, Grand Rapids, Michigan)

दिवाली 

अपने घर को तो हमने
चिरागों से रौशन कर दिया 
दिये जलाएं ढेरों 
और अमावस का सारा तम 
पल भर में हर लिया। 

माँ लक्ष्मी के स्वागत की 
सारी तैयारी कर ली 
मिठाई और मेवों से 
पूजा की थालियाँ भर ली। 

छोड़े ढ़ेर सारे पटाखे 
और फुलझड़ियाँ 
दोस्तों और रिश्तेदारों को दी 
ढ़ेरों बधाईयाँ। 

कर दी मीठे पकवानों की 
थालियाँ खाली 
लो मन गयी हमारी 
एक और दिवाली।

पर ना जाने कितने घर हैं 
जहाँ आज भी दिया जला नहीं 
ना जाने कितनी हैं आँखें 
जिनमें कोई ख़्वाब अब तक पला नहीं। 

क्या सिर्फ अपने घर को रौशन कर देने से 
दिवाली मन जाती है ?
दिवाली है बुराई पर अच्छाई की 
विजय का प्रतीक 
क्या सिर्फ लक्ष्मी पूजन से 
हमारे कर्तव्यों की छुट्टी हो जाती है ?

रोशन कर दो इस दिवाली 
अपने-अपने अंतर्मन को 
और हर लो उन सबके अंधरे 
जो जीते हैं सुबह शाम तम को। 
ताकि बन जाए उनकी भी ये शाम निराली 
और मन जाए हमारी एक सार्थक दिवाली। 

By Monika Jain 'पंछी'

Diwali is the festival of light, the symbol of victory of truth over lies. What can be the best way to celebrate this festival? I think the best way to celebrate deepavali is to light our soul first. There are many houses in our country filled with darkness. There are many people who even don’t have money to buy a single lamp. Isn’t our duty to share a little light with them also. Its the best time to distribute happiness among needy ones. So lets celebrate this deepawali in a unique and meaningful way. Wish you all a very Happy Deepawali. 

How is this poem about Diwali?


My Youtube Videos