Saturday, January 21, 2017

He She Conversation in Hindi

सवाल-जवाब, प्रश्न-उत्तर. He She Conversation in Hindi. Question Answer Talks Between Girl & Boy, Two Friends Cute Funny Discussion, Lovely Convos, Chit Chat. 
He She Conversation in Hindi
(1)
 
Question : आप जीवों से बहुत प्रेम करती हैं। प्रेम में एक नॉन वेजीटेरियन से शादी के बारे में क्या ख़याल हैं आपका?
 
Answer : शादी खुद ही एक बहुत बुरा ख़याल है :p...बड़ी वाली हिंसा...सो कैंसिल। :D बाकी जब प्यार करते समय वेज-नॉनवेज नहीं देखते, दोस्ती करते समय नहीं देखते, तो फिर शादी कौनसे खेत की मूली है? बस दोनों ओर से थोड़ी अधिक अंडरस्टैंडिंग की जरुरत है। वैसे एक दोस्त था जिससे बाद में मैंने शादी के बारे में भी सोचा था। वह एक बंगाली, परिवर्तित क्रिश्चियन व नॉन वेजीटेरियन ही था। यह बात अलग है कि वह नॉनवेज खाता है इस बात का पता मुझे तब चला जब किसी ने उसे खाने को साथ चलने को कहा तो वह नहीं गया और उसने बताया कि कुछ महीनों से उसने खाना छोड़ दिया है। मैंने कारण पूछा तो उसने कहा, ‘क्योंकि तुम नहीं खाती हो।’ उस समय तो मैंने उसे यही कहा कि जो तुम्हारा दिल कहे सिर्फ वो करना, किसी भी बेवजह के दबाव में नहीं। लेकिन आज भी यही लगता है कि अगर कोई बचपन से संस्कारित है तो उससे जबरदस्ती नहीं छुड़वाया जा सकता। वह किसी दबाव में छोड़ भी दे लेकिन अगर उसके मन में इच्छा शेष है तो यह संस्कार किसी और रूप में निकलेगा, लेकिन निकलेगा जरुर। सिर्फ प्रेम ही काम कर सकता है और कुछ नहीं। वह भी प्रेमी या प्रेमिका के लिए छोड़ने (यह भी अच्छा ही है) से अधिक बेहतर है कि पशु-पक्षियों और खुद के प्रेम में छोड़ा जाए।

(2)
 
Question : जब सब बुद्ध हो जायेंगे तो क्या होगा?
 
Answer : यह सवाल नहीं होगा और क्या? :)
 
(3)

He : तुम नदी हो।

She : डूब जाओगे। नाव का इंतजार करो।

He : तुम नदी और नाव दोनों हो।

She : हाँ और तुम पक्के वाले फ़्लर्ट! :D :p :D
 
(4)

He : आप एक लड़की हैं, आपको कई अजीबोगरीब मैसेज आते होंगे। कोई परेशानी नहीं होती?

She : व्यक्ति को अगर यह समझ आ जाए कि उसे कब और क्या पढ़ना है-नहीं पढ़ना है, सुनना है-नहीं सुनना है, देखना है-नहीं देखना है, बोलना है-नहीं बोलना है, महसूस करना है-नहीं करना है, कुछ करना है-नहीं करना है...और इन सबसे आगे बढ़कर उसे सिर्फ साक्षी या दृष्टा बनना आ जाए तो उसे दुनिया में कुछ भी परेशान नहीं कर सकता। उसकी गर्दन काटी जा रही हो यह भी नहीं। मैं हूँ तो नहीं ऐसी। लेकिन बहरहाल अजीबोगरीब मैसेजेज के लिए समझ आ गया कि वे न अजीब हैं और न ही गरीब हैं, वे सिर्फ मैसेजेज हैं। हाँ, कभी-कभी कोई कार्यवाही करना जरुरी हो तो बिल्कुल करनी ही चाहिए।

(5)

He : तुम्हारी बातें बहुत हाई लेवल की होती है। ज्यादा नहीं पच पाती।

She : इसलिए तो तुम्हें बोलने को कहती हूँ। तुम अपने लेवल की बात करो।

He : क्या बात करूँ, तुम ही बताओ।

She : (मन ही मन में : भाया, मैं तो अपने लेवल की ही बताऊंगी न?) अच्छा, तुम तो मुझे हमेशा बच्ची कहते हो। तो पहले तुम ये डीसाइड करो कि मैं हाई लेवल की हूँ या बच्चों के लेवल की।

He : तुम हाई लेवल की बच्ची हो। :p :D

(6)

He : दुनिया और समाज के प्रति अपने कर्तव्यों को छोड़कर मुक्ति की इच्छा एक बेहद स्वार्थी और अश्लील विचार है।

She : जितना मेरे नन्हें से दिमाग ने अब तक जाना है, आप दुनिया और अपने लिए इससे बेहतर कुछ भी नहीं कर सकते कि आप अपनी ओर से दुनिया में उत्पन्न प्रतिरोध (शारीरिक-मानसिक, प्रकट-अप्रकट) को न्यूनतम कर दें। अपनी जरूरतों और आवश्यकताओं को सीमित से सीमित कर दें। कुछ लोग आत्महत्या (जो कि आवेश में की जाती है) की सलाह देंगे। पर अफसोसजनक बात यह है कि वह प्रतिरोध को कम नहीं करता, वह तो बढ़े हुए प्रतिरोध का सूचक है।) क्योंकि इस दुनिया में कुछ भी खत्म नहीं होता। वह सिर्फ रूप बदलता है। बाकी किसी के मुक्त होने और मुक्त होने तक की प्रक्रिया स्वत: ही दुनिया के लिए बहुत कुछ कर जाती है।

(7)

कुछ आरोप इतने मासूम होते हैं कि उन्हें पढ़ते ही सबसे पहले सहज मुस्कुराहट आती है। :)

He : आपका कोई पोस्ट हटाना उस पोस्ट पर आये विचारों की हत्या है।
She : भई...हो सकता है मैं तो किसी दिन अकाउंट भी डिलीट कर दूँ। तब तो मैं बहुत बड़ी हत्यारण बन जाऊँगी। :o :D

(8)

He : कैसी हो?

She : अच्छी हूँ।

He : जब देखो तब बस अपनी तारीफ़ करवा लो।

:p :D 

(9)

He : सलमान खान बाइज्जत बरी हो गया।

She : Who is Salman Khan?

Moral of the Story : इज्जत (जिन चीजों को दुनिया मुख्य रूप से देती है), उतनी ही दो जितनी बरी होते देखी जा सके और अफ़सोस न हो। बड़े और छोटे के भेद जितने गहरे होंगे परिणाम वैसे न होंगे तो और कैसे होंगे?

(10)
 
Question : आप टीवी नहीं देखती, गाने नहीं सुनती, मूवीज नहीं देखती, न्यूज़ पेपर नहीं पढ़ती...etc...etc...तो आप करती क्या हैं?
 
Answer : मैं दिन में भी तारे देखती हूँ। (जोक्स अपार्ट) मुझे अपने साथ रहना अच्छा लगता है। मैं अपने साथ बोर नहीं होती। :p बाकी तो और भी लाखों काम है ज़माने में टीवी, मूवी के सिवा। :)

(11)
 
Question : What’s the aim of your life?
 
Answer : To be aimless. :) 

Feel free to add your views about these question and answer conversation. 
 
 

Thursday, January 19, 2017

Poem on Home in Hindi

घर की याद पर कविता, मेरा मकान शायरी. Poem on Home in Hindi for Kids. Missing My Sweet House Poetry, Homesickness Nursery Rhymes, Household Lines, Residence.
Poem on Home in Hindi

अपना घर है सबसे प्यारा

घर से निकली पंख पसार
देख लिया सारा संसार
उत्तर, दक्षिण, पूरब, पश्चिम
कर आई चहुँ ओर भ्रमण।

सुन्दर था जग का हर कोना
फिर भी मुझको पड़ा लौटना
सुन्दरता जग की ना भायी
घर की मुझको याद सताई।

नैना मेरे थे बेचैन
घर लौटी तब आया चैन
माना मेरे दिल ने यारा
अपना घर है सबसे प्यारा।

By Monika Jain 'पंछी'

 
Watch/Listen the video of this poem about home : 


Monday, January 16, 2017

Funny Quotes in Hindi

चुटकुले, हास्य उद्धरण. Funny Quotes in Hindi. Comic Dialogues, Laughing Status, One Liners Jokes, Comedy Lines, Laughter Messages, Sayings, Comments, Sentences.
 Funny Quotes in Hindi
Funny Quotes

  • 'स्टेप हेयर कट' के लिए माँ कहती है - चूहों ने बाल कुतर दिए हो जैसे। :p ~ Monika Jain ‘पंछी’ (11/01/2016) 
  • बच्चे के रूप में करीब-करीब ईश्वर ही जन्म लेता है। फिर माता-पिता और समाज उसे बिगाड़ने का कार्य करते हैं। :p ~ Monika Jain ‘पंछी’ (29/12/2016) 
  • कुछ लोगों को आपकी पोस्ट्स इतनी पसंद आती है, इतनी पसंद आती है, इतनी पसंद आती है कि वे उसे अपनी ही बना लेते हैं। उनके लिए यह स्वीकार करना संभव ही नहीं होता कि यह उन्होंने नहीं लिखी है। :) ~ Monika Jain ‘पंछी’ (21/12/2016) 
  • एक ज़माने में मैं इतनी बुद्धू थी (अभी भी कम नहीं :p ) कि एक दोस्त ने मेरे मजे लेने के लिए मुझसे कहा, 'हमारे यहाँ पर बेस्ट फ्रेंड को मुर्गीचोर कहा जाता है।' मैंने थोड़ा संदेह जताया तो उसने कहा, 'चाहो तो किसी और से पूछ लो!' और मैं आराम से वहीँ पर रहने वाले एक कॉमन फ्रेंड से पूछ भी आई कि क्या आपके यहाँ बेस्ट फ्रेंड को मुर्गीचोर कहते हैं? ~ Monika Jain ‘पंछी’ (27/09/2016) 
  • अपने घर में मैं नास्तिक समझी जाती हूँ। मेरी जन्मकुंडली में लिखा है मैं बहुत बड़ी धर्मात्मा बनूँगी और यहाँ फेसबुक पर शायद आध्यात्मिक समझते हैं मित्र। और फिर मैंने इनमें से कुछ भी बनना कैंसिल कर दिया। :p :) ~ Monika Jain ‘पंछी’ (30/08/2016)  
  • मित्र के सालों पुराने नंबर पर कॉल करने...जो कुछ सालों तक बंद रहकर अब किसी ख़तरनाक लड़की :p का नंबर हो चुका हो। जहाँ सामने वाली आपको कोई और लड़की (रिमझिम) समझ रही है (जिससे उसका 36 का आँकड़ा है शायद) और आप उसे मित्र की वाइफ समझ कर बहुत सहजता से बात कर रहे हैं। तब इस ख़तरनाक ग़लतफ़हमी के बीच कुछ अज़ब वार्तालाप के साथ-साथ उसका कहना, 'देखो! तुम इतनी ज्यादा स्वीट मत बनो।'...मुझे रह-रहकर अभी तक हंसी आ रही है। :D अच्छी-खासी आवाज़ का इस तरह से कचरा भी हो सकता है। :'( मन कर रहा था उसे कह दूँ, मैं स्वीट बन नहीं रही...आलरेडी स्वीट हूँ। :p ;) ~ Monika Jain ‘पंछी’ (21/08/2016) 
  • हमारी शिक्षा प्रणाली इतनी बोरिंग है कि बच्चे यह तक कहते पाए जाते हैं कि काश! बाढ़ आ जाए तो स्कूल ही नहीं जाना पड़ेगा। :D ~ Monika Jain ‘पंछी’ (04/09/2016)  
  • बच्चों का स्वागत और बच्चों द्वारा स्वागत आज भी दरवाजे के पीछे छिपकर 'हो' से ही होता है। :p :) ~ Monika Jain ‘पंछी’ (18/08/2016)  
  • जिन्हें शब्दों से अति प्रेम हो या फिर जिनके लिए चर्चा सिर्फ हार या जीत का प्रश्न हो उनके साथ चर्चा में पड़ना मतलब ’आ बैल मुझे मार!’ :p ~ Monika Jain ‘पंछी’ (01/12/2015)  
  • किचन एक्सपेरिमेंट के नाम पर किसी ने कहा, 'आप आलू-मुर्गा बना लो।' हमने कहा, 'आलू हम बना लेंगे, आप मुर्गा बन जाना।' :o :p ~ Monika Jain ‘पंछी’ (07/12/2015)  
  • काहें का 'फ्रीडम 251'! सबको तो गुलाम बना छोड़ा है। इत्ते तो अभी शक्ल भी नहीं देखी ढंग से। अफवाहों का बाज़ार भी गर्म है। वैसे टेंशन न लो कोई। कुछ ठीक न रहा तब भी बच्चों के खेलने के काम तो आ ही जाएगा। :p ~ Monika Jain ‘पंछी’ (19/02/2016) 
  • न सोयेंगे और न सोने देंगे वाले प्राणियों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है। :’( ~ Monika Jain ‘पंछी’ (07/11/2016)