Monday, April 27, 2015

Poem on Rain in Hindi


यूँ तो हर उम्र में बारिश से जुड़े अपने ही खट्टे-मीठे अहसास और अनुभव होते हैं. पर बचपन की बरसात से जुडी यादें कुछ अलग ही होती है. कागज़ की नावों को तैराने के हौंसले कितने मासूम होते हैं. मिट्टी के घरोंदें बनाने के सुख के सामने महलों के सूख फीके पड़ जाते हैं. मयूरों के नृत्य का प्राकृतिक अहसास और इद्रधनुष के रंगों से सजा आकाश, सब कितने मनोरम लगते हैं. ओलों को लूटने की भागदौड़ बड़े होकर भौतिक साधनों के पीछे दौड़ने वाली ज़िन्दगी का परिहास करती मालूम होती है. सच! बचपन से जुडी ऐसी यादों का कोई सानी नहीं होता. तभी तो हर कोई फिर से अपने बचपन में लौट जाना चाहता है. वर्षा ऋतु और बचपन की मीठी यादों को समेटती एक ऐसी ही कविता / शायरी लिखने की कोशिश :

Hindi Kids Poem : Rain 

बारिश और यादें / Barish aur Yaadein

रिमझिम बारिश से भीगी मिट्टी 
और मिट्टी की सौंधी ख़ुशबू से महकी यादें.

खेल-खेल में बनते बिगड़ते मिट्टी के घरोंदों की यादें.
यादें पानी में बहती-डूबती काग़ज की नावों की 

और छप-छप करते नन्हें पैरों में बजते घूँघरू की यादें. 
चेहरे पे गिरती पानी की बूंदों से बंद आँखों में सिमटी यादें 

बारिश में शोर मचाते, भागते- दौड़ते बचपन की यादें. 
यादें टर-टर शोर मचाते, उछलते- कूदते मेंढकों की 

और पंख फैलाकर छत पे नाचते मयूरों की यादें. 
बूंदों को छूते हाथों की बंद मुट्ठी में कैद यादें

बारिश में गिरते ओलों से बचती-बचाती यादें. 
यादें इन्द्रधनुष के रंगों को पहचानती नन्हीं आँखों की 

और मस्ती में झूमते, गाते, थिरकते बचपन की यादें. 
यादें बस यादें... 
हर पल याद आती यादें.

By Monika Jain 'पंछी' 

How are these poetry lines about ‘Barkha Rani’? You can also share some sms or messages related to rain for children. Read some more shayari, status and rhymes related to raining day :