Thursday, July 28, 2016

Broad Mindedness Quotes in Hindi

व्यापक विस्तृत सोच, संकीर्ण मानसिकता. Broad Mindedness Quotes in Hindi. Open Close Minded Quotations, Comprehensive Mind Thinking Sms, Narrow Mentality Messages.

Broad Mindedness Quotes

  • जब लिख रही होती हूँ तब अक्सर 'मैं' और 'तुम' सब मिक्स हो रहे होते हैं। याद नहीं रहता कौन मैं है और कौन तुम...पर जब पाठक उन्हें अलग-अलग करके देखने लगते हैं (जो स्वाभाविक है शायद), तब कभी-कभी असहज हो जाती हूँ। पर एक लेखक के लिए इस असहजता से मुक्ति जरुरी है। 
  • प्रकट हो या अप्रकट यह जातीय मानसिकता हर दूसरे व्यक्ति में पायी जाती है जिसके पीछे विलुप्त हो जाते हैं इंसान को इंसान बनाने वाले गुण 
  • ख़ुशी होती है जब संकीर्णता कम होती दिखती है। पर कभी-कभी इस ख़ुशी पर तेज तमाचा भी पड़ता है, जब पता चलता है कि संकीर्णता खत्म नहीं हो रही, बस उसने आधुनिकता और दिखावे का नया लबादा ओढ़ लिया है। गहराई में जाने पर आधुनिक-खुले विचारों का खोखलापन कहीं-कहीं साफ़ नज़र आ जाता है। बहुत जरुरी है, इस खोखलेपन का भरा जाना।  
  • कई लोग गर्व से कहते है कि वे विस्तृत सोच वाले हैं, पर एक कटु सत्य यह है कि इन ज्यादातर विस्तृत सोच वाले लोगों के दिमाग में विस्तृत सोच की संकीर्ण परिभाषा होती है।  
  • मेरी भाषा-तुम्हारी भाषा, मेरा धर्म-तुम्हारा धर्म, मेरी जाति-तुम्हारी जाति, मेरा देश-तुम्हारा देश.....यह सब संकीर्ण विचारों की पहचान है। विस्तृत सोच वाले व्यक्ति सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड को अपना घर मानते है। 
  • काश! संकीर्णता आस्तिकता या नास्तिकता की मोहताज होती। साधुओं के वेश में छिपे असाधुओं के पाखंडों की चर्चा बहुत की है, आगे किसी और दिन फिर कर लेंगे। आज बस आपकी बात करते हैं। आप बस इतना बताईये कि किसी भी साधु-सन्यासी (जिससे आप परिचित तक नहीं) की किसी स्त्री की ओर देखते हुए...या कुछ अन्य जेस्चर दिखाते हुए और उनकी खिल्ली उड़ाते शब्दों के साथ पिक्स शेयर करते हुए आप किस मानसिकता का परिचय दे रहे होते हैं? 
  • एक पिक्चर मात्र ( जिसमें कोई जेस्चर क्लिक करते समय अनजाने में किसी भी वजह से बन सकता है। जिसे आप अपनी मर्जी से कहीं भी प्रोजेक्ट कर देते हैं। ) से आप किसी के भी चरित्र का सम्पूर्ण बखान कर सकते हैं? और क्या किसी की साधुता या ब्रह्मचर्य की परिभाषा आप इससे करते हैं कि वह किसी स्त्री को देख भी नहीं सकता...छू भी नहीं सकता...बात भी नहीं कर सकता?
    श्रेणियां मात्र सुविधा के लिए होती है...लेकिन जो लोग खुद को श्रेणियों में घनघोर रूप से विभाजित करते लगते हैं, वे सभी बस अपने ही प्रतिबिम्बों के विरुद्ध खड़े होने लगते हैं।
     
  • अहंकार इतने सूक्ष्म छिद्रों से हमारे भीतर प्रवेश कर जाता है कि हमें खुद पता नहीं चलता। यहाँ तक कि अहंकार न होने का अहंकार भी निर्मित हो सकता है। कभी-कभी हमें पता भी होता है पर हम इग्नोर कर जाते हैं। वस्तुत: हमारे होने का कारण अहंकार ही है। हाँ, जहाँ भी जरा सा अतिरेक होता है, यह दूसरों को स्पष्ट नज़र आने लगता है। लेकिन मिथ्यादृष्टि से सम्यकदृष्टि की इस यात्रा में इतने असंख्य स्थान हैं कि हम अहंकारी-निरहंकारी, सज्जन-दुर्जन, अच्छा-बुरा जैसे वर्गों में विभाजन कुछ समझने-समझाने की दृष्टि से तो कर सकते हैं (क्योंकि भाषा के पास और कोई तरीका नहीं) लेकिन किसी के बारे में निष्कर्ष बनाने की इस दृष्टि से हमें जितना संभव हो बचना चाहिए।
 
By Monika Jain 'पंछी'

Feel free to add more quotes about broad mindedness via comments.

Quotes on Books in Hindi

पुस्तक पर सुविचार, किताब, पुस्तकालय. Books Our Best Friend Quotes in Hindi. Pustak Suktiyan, Kitab Slogans, Library Sms, Pustakalaya Status, Sayings, Proverbs.

Books Our Best Friend Quotes in Hindi

Books Quotes

  • किताबें तो बस एक बहाना है, पढ़ना तो दरअसल 'मन' ही है। ~ Monika Jain ‘पंछी’ 
  • किताबें सिर्फ मनोरंजन, ज्ञानार्जन और समय व्यतीत करने के लिए नहीं होती, जीवन निर्माण के लिए भी होती है। हमने घर में बहुत सुन्दर सी लाइब्रेरी बना रखी है। महान लेखकों की ढेरों पुस्तकें उसकी शोभा बढ़ाती है। हम पढ़ने के बहुत शौक़ीन हैं। गर्व से स्टेटस भी डालते हैं कि हमने ये किताब पढ़ी, वो पढ़ी। लेकिन क्या फायदा अगर उसका थोड़ा सा असर भी हमारे व्यक्तित्व में न नज़र आया? क्या फ़ायदा अगर हमने जो सीखा उसका सही उपयोग ही नहीं कर पाए? क्या फायदा? ~ Monika Jain ‘पंछी’ 
  • अच्छी किताबें पढ़िए और अपने गुरु आप बनिए। न तो किसी गुरु की शरण में जाने की जरुरत रहेगी और न ही रहेंगे नित सुर्ख़ियों में रहने वाले ये गुरु! इस युग की आवश्यकता तो यही है। नहीं तो देखते रहिये धर्म, प्रेम, ईश्वर, माँ, पिता, बहन, भाई और भी न जाने कितने शब्दों की परिभाषाएं और मायने बदलते हुए। ~ Monika Jain ‘पंछी’ 
  • किताब कितनी अनोखी चीज है। यह पेड़ से बनी और लचीले हिस्सों वाली एक सपाट सी वस्तु है जिस पर रेंगने से बनी गहरी रेखाओं की तरह कुछ अजीबोगरीब छपा होता है। परन्तु बस एक नज़र डालने की देर है और आप एक दूसरे व्यक्ति के दिमाग में चले जाते हैं, भले ही वह व्यक्ति हजारों साल पहले ही चल बसा हो। सहस्राब्दियों के फासले के बावजूद लेखक आपके मस्तिष्क से स्पष्ट और गुपचुप तरीके से बातें कर रहा होता है, वह सीधे आपसे बातें कर रहा होता है। लेखन शायद मनुष्य का महानतम अविष्कार है, जो ऐसे एक दूसरे से अनजान दो भिन्न युगों में रहने वाले नागरिकों को एक डोर से बाँध देता है। किताबें समय की बेड़ियों को तोड़ देती हैं। किताब एक जिंदा सबूत है कि मनुष्य जादू करने में सक्षम है। ~ कार्ल सैगन / Carl Sagan 
  • जो पुस्तकें आपको सबसे ज्यादा सोचने के लिए मजबूर करती हैं, वही पुस्तकें सबसे ज्यादा सहायता भी करती हैं। ~ थियोडोर पार्कर / Theodore Parker 
  • पुस्तकों का असली उद्देश्य मस्तिष्क को स्वयं का चिंतन करने के लिए बाध्य करना है। ~ सी मोर्ले / Christopher Morley 
  • दुनिया एक पुस्तक है और जो लोग यात्रा नहीं करते, वे केवल एक ही पृष्ठ पढ़ते हैं। ~ संत अगस्टीन / Saint Augustine 
  • जिन विषयों के गंभीर अध्ययन से मनुष्य का मस्तिष्क परिष्कृत और ह्रदय सुसंस्कृत होता है, उसमें समय लगता है और उसके लिए बाजार आसानी से नहीं मिलता है। ~ हजारी प्रसाद द्विवेदी / Hazari Prasad Dwivedi 
  • एक अच्छी किताब पढ़ने का पता तब चलता है, जब आखिरी पन्ना पलटते हुए आपको लगे कि आपने एक मित्र को खो दिया। ~ पॉल स्वीनी / Paul Sweeney 
  • किताब के आदमी बनावटी बात करते हैं। वे जिन बातों पर हँसते-रोते हैं, वे दरअसल हास्य रस और करुण रस की बातें होती हैं। किन्तु सचमुच का आदमी रक्त मांस का बना प्रत्यक्ष जीता-जागता आदमी है और वही उसकी प्रत्यक्ष जीत है। ~ अज्ञात / Unknown 
  • सभी अच्छी पुस्तकों को पढ़ना पिछली शताब्दियों के बेहतरीन व्यक्तियों के साथ संवाद करने जैसा है। ~ रेने डकार्टेस / Rene Descartes 
  • लोगों को मारा जा सकता है, लेखकों को भी। लेकिन किताबों को मारना संभव नहीं। ~ अमोस ओज / Amos Oz 
  • बिना ग्रंथों का कक्ष बिना आत्मा की देह है। ~ शरण / Sharan 
  • मैं नरक में भी उत्तम पुस्तकों का स्वागत करूँगा, क्योंकि इनमें यह शक्ति है कि जहाँ ये होंगी, वहां अपने आप ही स्वर्ग बन जायेगा। ~ लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक / Bal Gangadhar Tilak 
  • किताबों में इतना खजाना छुपा है, जितना कोई लुटेरा कभी लूट नहीं सकता। ~ वाल्ट डिजनी / Walt Disney

Feel free to add more quotes about books via comments.

Wednesday, July 27, 2016

Love Poem for Him in Hindi

पहला प्यार कविता, अजनबी शायरी. My First Love Feelings Poem for Him in Hindi. Pehla Pyar Shayari Lines, Ajnabi Kavita, Stranger Memories Poetry, Sms, Status.

पहला प्यार

बीते लम्हें, बीते दिन
और बीते हैं कई साल
पर मेरी यादों में अब भी
बसते तेरे ख़याल।

आया था बन अजनबी
लगता था फिर भी जाना सा
रिश्ता न था तुझसे कोई
फिर भी था पहचाना सा।

साँसों को सुर दे जाता था
तेरा सपनो में आना
सांझ की धीमी पुरवईयां बन
जुल्फों को बिखराना।

रोक न पाई तुझको मैं
करके कोई बहाना
पहले प्यार का ये अहसास
मुझको था तुझे बताना।

By Monika Jain 'पंछी'

Watch and listen the video form of this poem about first love in my voice.