Sunday, September 1, 2013

Poem on Love in Hindi


Poem on Love in Hindi, Memories, Yaadein, Pyar, Prem, Yaad, Kavita, Poetry, Shayari, Lines, Sms, Messages, Slogans, Nature, Tears, Recollection, Remembrance, Feelings, Silence, Romance, Rainbow, प्रणय गीत, प्यार, हिंदी कविता, प्रेम, शायरी, यादें, याद  

कल-कल करती पानी की धारा जो तुझे छू जाएगी 
बन आँसू तेरी आँखों का मैं धीमे से बह जाऊँगी.

कूँ-कूँ करती कोयल जब तेरे द्वारे गाएगी 
मिश्री की डली मेरी बोली तेरे कानों में घुल जाएगी.

फूलों की कोई क्यारीं जब तेरे आँगन खिल आएगी 
बन खुशबूँ तेरी साँसों को मैं महकाती जाऊँगी.

अनजानी सूनी राहों पे जब हवा तुझे छू जाएगी 
मेरी यादें तेरा हथ थामें दूर तलक तक जाएगी.

रिमझिम बारिश की बूँदें जब तेरा तन भिगाएगी 
बन सिहरन तेरे तन-मन में मैं अहसास जगाऊँगी.

साँझ के ढलते सूरज पर जब तेरी नज़रे जायेगी 
मेरे चहरे की धुँधली सी एक छवि नज़र तुझे आएगी.

भीड़ में भी जब तनहाई रह रह कर तुझे सताएगी 
मेरी ख़ामोशी तेरी ख़ामोशी से घंटों बतियाएगी.

इन्द्रधनुषी रंगों को जब तेरी पलकें निहारेगी 
बन गुलाल तेरी यादों को उन रंगों से रंग जाऊँगी.

हर पल तेरी यादों को हर लम्हा तेरी बातों को 
मैं याद आऊँगी, तुझे मैं याद आऊँगी.

Monika Jain 'पंछी'