Sunday, February 28, 2016

Fun Quotes in Hindi

Fun Quotes in Hindi. Funny Slogans, Comedy Comments, Making Joke of Someone, Joking Quotations, Majak Udana, Sms, Messages, Proverbs, Taglines, Sayings, Sentences, Dialogues, Punchlines, Status.
 
Fun Quotes

  • हंसी चाहे 100 वाट की हो, 200 वाट की या 1000 वाट की...किसी दूसरे का मजाक उड़ाने, अपमान करने या नीचा दिखाने पर आश्रित नहीं होती. अगर हो रही है तो हम समझ लें कि वह सहज हास्य नहीं कुंठित हास्य है. ~ Monika Jain ‘पंछी’ 
  • एक दो-तीन साल की बच्ची नमकीन के लगभग खाली पाउच से थोड़ी बची हुई नमकीन को हाथों से चाट-चाट कर इस तरह खा रही है जिसे हम तथाकथित सभ्य लोगों की भाषा में गँवारों की तरह खाना कहते हैं. उसके चारों तरफ खड़े उसके कुछ सभ्य रिश्तेदार उसको देख-देखकर हँस रहे हैं. कोई यह सोचकर हँस रहा है कि कितनी गँवार हैं, मम्मी-पापा ने खाने के मैनर्स तक नहीं सिखाये, खाने के लिए मरी जा रही है. कोई फोटो पे फोटो शूट कर रहा है और फनी से फनी फोटो के लिए उसे प्रेरित का रहा है. कोई ठहाकों पे ठहाकें लगाए जा रहा है. और वह इन सबसे बेखबर अपने काम में मस्त है. उसे समझ नहीं आ रहा कि ये लोग मुझपे क्यों हँस रहे हैं.
    कई लोगों के लिए यह सामान्य हँसी-मजाक की बात है. यूँ तो मैं भी बहुत हँसती-मुस्कुराती हूँ पर पता नहीं क्यों मुझे दूसरों की ऐसी बातों पर कभी हँसी नहीं आती. इन ठहाकों के बीच उसे देखते हुए मेरे दिमाग में सिर्फ एक बात चल रही थी कि बच्चे कितने मासूम होते हैं. उन्हें नहीं आता किसी की हँसी उड़ाना. उन्हें नहीं पता होता कि कौन उनके लिए कैसे भाव रखता है. उन्हें नहीं आता झूठ बोलना या सभ्य होने का दिखावा मात्र करना. दिखावा इसलिए क्योंकि जो लोग सभ्यता से ऊपर से नीचे तक नहाये हुए हैं, उनके मन में कितनी ज्यादा और किस-किस तरह की भूख होती है, यह मैं बेहतर जानती हूँ, जिसके सामने किसी की यह असभ्य भूख तो कुछ भी नहीं है. ~ Monika Jain ‘पंछी’ 
  • ये अधिकांश फेसबुक कविताओं को सस्ती तुकबंदी, घटिया जोड़-तोड़, जबरदस्ती की कविता, सरदर्द और भी बहुत कुछ उल्टा-सीधा कहने वाले विद्वान जन खुद को समझते क्या हैं ? ये बेवजह का मजाक उड़ाने वाले लोग मुझे आज तक समझ नहीं आये. कोई कुछ सीख रहा है, लिखने की कोशिश कर रहा है तो पहले ही उसका गला घोंट दो ? आप लोग क्या अपनी माँ के गर्भ से महान लेखक/कवि बनकर ही जन्में थे ? अगर इतने ही साहित्य के हितैषी हैं तो अच्छा नहीं लिखने वालों को सुधार करने में मदद कीजिये, उन्हें उनकी कमी बताइए और वह नहीं कर सकते तो पढ़िए ही मत, अनफॉलो कर दीजिये. ये बार-बार हंसी उड़ाने का क्या फायदा है ? वैसे सच कहूँ तो जिन्हें आप सस्ती कवितायेँ कहते हैं उन्हें पढ़कर इतना सरदर्द नहीं होता जितना आपकी इस तरह की पोस्ट्स से आती अहंकार और जलन की बदबू से होता है. हाँ मेरे पास भी अनफॉलो का विकल्प है, पर क्या हैं ना कि मुझे देखना होता है कि ये महँगी कवितायेँ आखिर होती कैसी हैं. ~ Monika Jain ‘पंछी’ 
  • कुछ लोग किसी की स्वीकारोक्ति पर उसका मजाक उड़ाते हैं. ऐसे लोग असल वाले मुर्ख होते हैं और सच्चाई और ईमानदारी के खात्मे में परम सहयोगी भी. ~ Monika Jain ‘पंछी’ 
  • हर कोई हर चीज में विशेषज्ञ नहीं होता. मुझे अच्छा नहीं लगता जब लोग किसी की अयोग्यता और अकुशलता का मजाक बनाते है. ~ Monika Jain ‘पंछी’
 
By Monika Jain 'पंछी'

How are these quotes about making fun of others?