Poem on Father in Hindi


Poem on Father in Hindi, Pita par Kavita, Dad Shayari, Happy Fathers Day Poetry, Papa Poems, पिता पर कविता, पापा, पिताजी, बाबा, पिता दिवस शायरी, Pitaji, Daddy Slogans, Baba Shayari

ईश्वर का एक रूप पिता है
पावन सी एक धूप पिता है.
खुशियों का नभतल पिता है.
सूर्य का प्रकाश पिता है
बच्चों का आकाश पिता है.
घने पेड़ की छाँव पिता है,
तूफानों में नाव पिता है.
बल, विवेक, बुद्धि पिता है
साहस की वृद्धि पिता है.
धैर्य का सागर पिता है
ज्ञान का गागर पिता है.
अनुशासन का भान पिता है
सही मार्ग का ज्ञान पिता है
सख्त, कठोर, गरम पिता है
कोमल, तरल, नरम पिता है.
गगन पिता है, पवन पिता है
यज्ञ पिता है, हवन पिता है.

- Monika Jain 'पंछी'

No comments:

Post a Comment

Due to comment moderation It will take time to publish your comments.Your reactions are my inspiration :)