Friday, May 17, 2013

Poem on Beti in Hindi



Poem on Beti in Hindi, Daughters, Daughter, Ladki, Kanya, बेटी पर कविता, बेटी एक वरदान, कन्या पर कविता, लड़की, पुत्री, Beti ek Vardan, Kavita, Shayari, Slogans, Poetry, Sms, Messages

त्याग की सूरत है बेटी
ममता की मूरत है बेटी

सस्कारों की जान है बेटी
हर घर की तो शान है बेटी

खुशियों का संसार है बेटी
प्रेम का आधार है बेटी

शीतल सी एक हवा है बेटी
सब रोगों की दवा है बेटी

ममता का सम्मान है बेटी
मात-पिता का मान है बेटी

आँगन की तुलसी है बेटी
पूजा की कलसी है बेटी

सृष्टि है, शक्ति है बेटी
दृष्टि है, भक्ति है बेटी

श्रद्धा है, विश्वास है बेटी

Monika Jain 'पंछी'

2 comments:

  1. aandkar me parkesh h beti
    sub ko khus karti h beti

    sub kuch sahti h beti
    jab manav karta h atyachar betiyo pr to
    maa kali ban jati h betiya
    ANITA YADAV ,PINKI YADAV

    ReplyDelete

Due to comment moderation It will take time to publish your comments.Your reactions are my inspiration :)