Poem on Rakhi in Hindi


Poem on Rakhi in Hindi, Brother and Sister, Rakhi ka Tyohar, Indian Festival, Kavita, Shayari, Sms, Messages, Slogans, राखी पर हिंदी कविता, शायरी, राखी का त्योहार

कच्चे धागों से बनी पक्की डोर है राखी
प्यार और मीठी शरारतों की होड़ है राखी

भाई की लम्बी उम्र की दुआ है राखी
बहन के प्यार का पवित्र धुँआ है राखी

लोहे से भी मजबूत एक धागा है राखी

जांत-पांत और भेदभाव से दूर है राखी
एकता का पाठ पढ़ाती नूर है राखी

बचपन की यादों का चित्रहार है राखी
हर घर में खुशियों का उपहार है राखी

रिश्तों के मीठेपन का अहसास है राखी
भाई-बहन का परस्पर विश्वास है राखी

दिल का सुकून और मीठा सा ज़ज्बात है राखी
शब्दों की नहीं पवित्र दिलों की बात है राखी

Monika Jain 'पंछी'  

No comments:

Post a Comment

Due to comment moderation It will take time to publish your comments.Your reactions are my inspiration :)