Tuesday, September 22, 2015

Mahatma Gandhi Quotes in Hindi


Mahatma Gandhi Quotes in Hindi. Mohandas Karamchand Gandhiji Ke Vichar, Slogans, Quotations, Sayings, Anmol Vachan, Dialogues, Suvichar, Words, Sentences, Lines, Sms. महात्मा गाँधी जी के अनमोल विचार.

Mahatma Gandhi Quotes

  • पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे. 
  • जो बदलाव आप दुनिया में देखना चाहते हैं वह पहले स्वयं में लायें. 
  • समाज में से धर्म को निकाल फेंकने का प्रयत्न बाँझ के पुत्र पैदा करने जितना ही निष्फल है और अगर कहीं सफल हो जाय तो समाज का उसमें नाश है. 
  • जो लोग अपनी प्रशंसा के भूखे रहते हैं, वो साबित करते हैं कि उनमें योग्यता नहीं है. 
  • यदि शारीरिक उपवास के साथ-साथ मन का उपवास न हो तो वह दम्भपूर्ण और हानिकारक हो सकता है. 
  • आप नम्र तरीके से दुनिया को हिला सकते हैं. 
  • अहिंसात्मक युद्ध में अगर थोड़े भी मर मिटने वाले लड़ाके मिलेंगे तो वे करोड़ों की लाज रखेंगे और उनमें प्राण फूकेंगे. अगर यह मेरा स्वप्न है, तो भी मेरे लिए मधुर है. 
  • मैं हिंदी के जरिये प्रांतीय भाषाओँ को दबाना नहीं चाहता, किन्तु उनके साथ हिंदी को भी मिला देना चाहता हूँ. 
  • विश्व इतिहास में आज़ादी के लिए लोकत्रांत्रिक संघर्ष हमसे ज्यादा वास्तविक किसी का नहीं रहा है. मैंने जिस लोकतंत्र की कल्पना की है, उसकी स्थापना अहिंसा से होगी. उसमें सभी को समान स्वतंत्रता मिलेगी. हर व्यक्ति खुद का मालिक होगा. 
  • आपका कोई काम महत्वहीन हो सकता है लेकिन महत्वपूर्ण यह है कि आप कुछ करें. 
  • अपनी बुद्धिमता को लेकर बेहद निश्चित होना बुद्धिमानी नहीं है. यह याद रखना चाहिए कि ताकतवर भी कमजोर हो सकता है और बुद्धिमान से बुद्धिमान भी गलती कर सकता है. 
  • भविष्य में क्या होगा, मैं नहीं सोचना चाहता. मुझे वर्तमान की चिंता है. ईश्वर ने मुझे आने वाले क्षणों पर कोई नियंत्रण नहीं दिया है. 
  • लम्बे - लम्बे भाषणों से कहीं अधिक मूल्यवान है इंच भर कदम बढ़ाना. 
  • कमजोर कभी क्षमा नहीं कर सकता. क्षमा करने का गुण ताकतवर का है. आँख के बदले आँख की भावना का हश्र यह होगा कि दुनिया में आँखों वाला कोई नहीं बचेगा. 
  • मेरी आज्ञा के बिना मुझे कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता. 
  • सच पूछो तो हम सब द्रौपदी की स्थिति में हैं. हमारी लाज कोई मनुष्य नहीं ढक सकता, उसे तो ईश्वर ही ढक सकता है. ऐसा जरुर होता है कि वह अपनी सहायता मनुष्य के द्वारा भेजता है, पर मनुष्य तो निमित्त मात्र है. 
  • आस्था तर्क से परे की चीज है. जब चारो ओर अँधेरा ही दिखाई पड़ता है और मनुष्य की बुद्धि काम करना बंद कर देती है उस समय आस्था ज्योति प्रखर रूप में चमकती है और हमारी मदद को आती है. 
  • अहिंसा में इतनी ताकत है कि वह विरोधियों को भी अपना मित्र बना लेती है और उनका प्रेम प्राप्त कर लेती है. 
  • क्रोध एक किस्म का क्षणिक पागलपन है.  
  • क्षणभर भी काम के बिना रहना ईश्वर की चोरी समझो. मैं दूसरा कोई रास्ता भीतरी या बाहरी आनंद का नहीं जानता. 
  • सच्चा सुख वही है जब आप जो सोचें, कहें और करें तारतम्य में हो.
 
महात्मा गाँधी / Mahatma Gandhi

How are these quotes of Mahatma Gandhi?