Friday, December 28, 2012

Poem on Blood Donation in Hindi


Poem on Blood Donation Day in Hindi, Rakt Daan Mahadaan Kavita, विश्व रक्तदान दिवस पर कविता, रक्तदान महादान, Raktadan Divas Slogans, Poetry, Poems, Sms, Messages 
बात नाराज़ होने की नहीं है 
गर्व करने की है, माँ ! 
तेरा बेटा रक्त नहीं देता 
दुआएँ लेता है 
तुम्हारी ही जैसी कई माँओं की॰ 
माँ ! 
बात चिन्तित होने की नहीं है 
बल्कि, समझने की है, माँ ! 
रक्तदान से कोई कमजोरी नहीं होती 
वरन, किसी की जिंदगी बच रही होती है. 
माँ ! 
दान की गयी रक्त की मात्रा 
हमारा शरीर निर्मित कर लेता है 
महज अगले 24 घंटो में 
और पूरे शरीर में फ़ैल जाती है 
नए रक्त के साथ, ऊर्जा और स्फूर्ति भी 
और पहुँच जाता है 
महादान का आनन्द॰॰॰ रोम रोम में 
माँ !
तीन महीने में, रक्तदान कर सकते हैं 
तुम भी कर के देखो माँ 
“अच्छा लगता है” 

By Randhir 'Bharat' Chaudhary