Friday, December 23, 2016

Pyar par Kavita in Hindi

प्यार पर कविता, शायरी. Changed Feelings in a Relationship Poem. Broken Promise Hindi Poetry, Be Practical Lines, Love is not a Joke or Game to Play with Emotions.
Pyar par Kavita in Hindi

प्यार मेरे लिए बस प्यार ही है।

मैंने कहा था न! -
न करना ऐसे वादें
जो निभा न सको
न कहना ऐसी बातें
जो सिर्फ बाते बनकर रह जाये
न करना ऐसा प्यार
जो स्थायी न रह सके।

हर रोज तो कहती थी तुम्हें,
क्योंकि डरती हूँ मैं खुद से।
नहीं समझा पाती खुद को
जब मेरा भरोसा टूटता है
नहीं बहला पाती खुद को
जब कुछ अपना छूटता है।

मेरे इनकार को बदल ही दिया
तुमने इकरार में
और अपनी प्यार भरी बातों से
कैद कर लिया मुझे अपने प्यार में।

पर अब तुम्हारी बदलती फीलिंग्स
कैसे मैं भी अपना लूँ?
नहीं तुम्हे अब प्यार
ये कैसे खुद को समझा लूँ?

तुम कहते हो - प्रैक्टिकल बनो!
पर तुम्हारे हाथों की मैं कोई गुड़िया तो नहीं?
जब चाहो बदल जाऊं वो जादू की पुड़िया तो नहीं?

मेरी आज़ाद सोच से प्यार था न तुम्हे?
अब तुम्हारी सोच में कैद हो जाऊं
मैं वो चिड़िया तो नहीं?

मैंने कहा था न कई बार
प्यार मेरे लिए कोई मजाक नहीं है
प्यार मेरे लिए बस प्यार ही है।

By Monika Jain ‘पंछी’