Monday, December 31, 2012

Poem on Reservation in Hindi



Poem on Reservation System of India in Hindi, आरक्षण पर कविता, शायरी, Aarakshan par Kavita, Anti Reservation Poetry, Shayari, Sms, Message, Slogans, Poems 


आरक्षण 
वोट बैंक के खातिर फैलाया ये जाल 
निगल रहा है उन प्रतिभाओं को 
जिन्होंने सीखा है मेहनत से ही सब कुछ पाना 
एक सपने के लिए जिन्हें पड़ता है पूरा जीवन गंवाना।
आरक्षण का जातीय आधार बिलकुल बेबुनियाद है 
ऊँचे कुल में जन्म लेना क्या कोई अपराध है ?
अगर सच में चाहते हो दलितो का भला 
तो क्यों नही बदलते प्राथमिक शिक्षा का स्वरुप 
क्या प्रतिभाओं को मार देने से 
बदल जायेगा देश का रूप ?
आर्थिक आरक्षण से सबका भला है 
जातीय आरक्षण देश को गर्क में ले चला है। 

Monika Jain 'पंछी'


Tuesday, December 25, 2012

Hard Work Quotes in Hindi


Hard Work Quotes in Hindi, कठिन परिश्रम, कड़ी मेहनत, Quotations, Thoughts, Messages, Proverbs, Sms, Sayings, Slogans

  • आप आराम की जिंदगी चाहते हैं, तो कुछ परेशानी तो आपको उठानी ही होगी ~ एबिगेल वैन ब्यूरेन 
  • कुछ लोग सफलता के सपने देखते हैं जबकि अन्य इन्हें सच करने के लिए मेहनत करते हैं ~ अज्ञात 
  • विश्व में अग्रणी भूमिका निभाने की आकांक्षा रखने वाला कोई भी देश शोध अथवा दीर्घकालीन अनुसन्धान की उपेक्षा नहीं कर सकता ~ होमी जहाँगीर भाभा
  • एक बड़े पहाड़ पर चढ़ने के बाद पता चलता है कि अभी ऐसे कई पहाड़ चढ़ने के लिए बाकी है ~ नेल्सन मंडेला
  • अपने आप कुछ नहीं होता, सब कुछ करना ही पड़ता है ~ जॉन एफ एबर्ट 


Suji Dhokla Recipe in Hindi


Suji ka Dhokla Recipe in Hindi, Instant Rava Dhokla, सूजी का खमण ढोकला, रवा खम्मन ढोकला, Khaman Dhokla, Sooji Khamman Dhokla 


Ingredients : सूजी : 3 कप, दही (फेटा हुआ) : 2 कप, पानी : 1 कप, चीनी : 1 छोटा चम्मच, नमक : 1/2 छोटा चम्मच, ईनो पाउडर : 1 छोटा चम्मच, बारीक कटा हरा धनिया : 1 बड़ा चम्मच, हरी मिर्च कटी हुई : 2-3, तेल : 1 बड़ा चम्मच, राई के दाने : 1 छोटा चम्मच, मीठी नीम के पत्ते : 7-8, नीम्बू का रस : 2 छोटे चम्मच 

Method : सबसे पहले एक बर्तन में सूजी, नमक, पानी और दही अच्छी तरह मिलाकर अच्छी तरह से फेंट लें. अब खम्मन स्टैंड में नीचे पानी डालकर और जाली वाली प्लेट रखकर ऊपर चिकनाई लगी प्लेट रख दे. गैस जला दें. अब सूजी के घोल में ईनो पाउडर डालकर तेजी से हिलाए. जब झाग आने लगे तो घोल को प्लेट में डाल दे और स्टैंड को ढक दे. २० मिनट में खम्मन पक जायेगा. इसमें चाकू डालकर देखे, अगर चाकू पर मिश्रण न चिपके तो मतलब खम्मन पक गया है. अब इसे चाकू की सहायता से एक थाली में निकाल लें और मनचाहे आकार में काट लें. खम्मन को साधारण कुकर में भी पकाया जा सकता है, इसमें पकाने के लिए सीटी हटानी होगी. अब एक कड़ाई में तेल गर्म करें इसमें राई के दाने डाले, जब राई तड़कने लगे तो फिर मीठी नीम के पत्ते और फिर हरी मिर्च डाल कर कुछ देर चलाये. अब इसमें 1/2 कप पानी, चीनी और नीम्बू का रस मिला दीजिये. उबाल आने पर बंद कर दीजिये. अब इस घोल को खम्मन के टुकड़ों पर फैला दीजिये. अब खम्मन पर बारीक कटा हरा धनिया डाल दीजिये और नारियल की चटनी के साथ सर्व कीजिये.


Besan Barfi Recipe in Hindi


Besan Burfi Recipe in Hindi, How to make Besan ki Barfi, बेसन की बर्फी, बेसन की चक्की, Besan Chakki Mithai, Gram Flour Sweet 


Ingredients : बेसन : 2 कप, चीनी : 1 कप, देसी घी : 1 कप, पानी : 1 /2 कप, केसर : 1/2 छोटा चम्मच, इलायची पाउडर : 1/2 छोटा चम्मच, दूध : 2 बड़े चम्मच 

Method : सबसे पहले बेसन को एक थाली में लेकर इसमें दूध और 1 बड़ा चम्मच घी डाल कर हथेलियों की सहायता से मसल कर मिक्स करें. अब स्टील की तार वाली छलनी से इस मिश्रण को छान ले. इससे बेसन में दाना पड़ जायेगा. अब कड़ाई में घी लेकर घर्म करें और इसमें छना हुआ बेसन डालकर भूने. जब बेसन सुनहरा हो जाये, घी छोड़ने लगे तो गैस बंद कर दें. अब एक दुसरे बर्तन में पानी, केसर, इलायची और चीनी डालकर पकायें. जब चाशनी दो तार की हो जाये तो इसे भूने हुए बेसन में डालकर गैस चालु कर तेजी से हाथ चलाते हुए मिलाये. जब मिश्रण एक जगह इकट्ठा होने लगे तो इसे चिकनाई लगी थाली में पलट दें व ठंडा होने पर मनचाहे आकर में काट कर सर्व करें.

Patriotic Story in Hindi


Patriotic Story in Hindi, Patriotism Tale, देशभक्ति की कहानीराष्ट्र प्रेम, राष्ट्र भक्ति, Deshbhakti ki Kahani, Rashtra Prem, Rashtra Bhakti Tales

जापान की स्कूलों में बच्चों को पढ़ाये जाने वाले तीन प्रश्नोत्तर आज के भारत में बहुत ही प्रासंगिक है. प्रथम प्रश्न है कि आप सबसे ज्यादा किसे मानते है? उत्तर है - भगवान बुद्ध को. फिर प्रश्न था कि अगर कोई भगवान बुद्ध पर हमला कर दे तो आप क्या करेंगे ? उत्तर था - हमला करने वाले का सिर उड़ा देंगे. तीसरा प्रश्न था - अगर भगवान बुद्ध ही जापान पर हमला कर दे तो क्या करोगे ? उत्तर है - हम भगवान बुद्ध का ही सिर उड़ा देंगे. अर्थात जापान देश में सिखाया जाता है कि देश धर्म से भी बढ़कर है. 


Coutesy : स्वाध्याय सन्देश

Story on Moral Values in Hindi



Story on Kindness in Hindi, Story on Moral Values, Paropkar Kahani, Humanity Tale, Human Values, श्रद्धा, जन सेवा, लोक सेवा, परोपकार कहानीReligious Faith Tales


शिव और पार्वती कैलाश जा रहे थे. मार्ग में गंगा स्नान की भीड़ को देखकर पार्वती बोली - भगवन् ! देखिये , लोग कितने धर्मनिष्ठ और श्रद्धालु हैं. शंकर हँसे और बोले - पार्वती ! सच्ची श्रद्धा तो विरले में ही होती है. ये सभी तो श्रद्धालु कम, दुराचारी ज्यादा हैं. स्नानार्थियों की परीक्षा के लिए दोनों नीचे उतर आये. पार्वती एक ब्राह्मणी का वेश बनाकर खड़ी हो गयी और शंकर ने दीन- अपाहिज के समान रूप बना लिया. जो भी वहां से जाता, पार्वती जी उससे कहती - मेरे अपाहिज पति को गंगा तक पहुंचादो. सहायता की बात तो दूर, सभी वहां से बिदककर निकल जाते. कितने ऐसे भी थे जो पार्वती पर कुदृष्टि  डालते और अपाहिज पति को छोड़ने के लिए कहते. शिवजी पार्वती की और देखते और मुस्कुराते. अंत में एक वृद्ध किसान आया. उसने कहा - मांजी ! आप आगे-आगे चलिए, मैं इन्हें पहुंचा देता हूँ. शिवजी प्रगट हुए और बोले - श्रद्धा यह है. जो लोक सेवा की प्रेरणा न दे वह श्रद्धा  नहीं है. 

Courtesy : स्वाध्याय सन्देश 

Monday, December 24, 2012

Story of Ashoka in Hindi


History of Great King Ashoka in Hindi, Story of Non Violence, Asoka Conversion to Buddhism Tale, Ashoka Indian Emperor, Kalinga War Tales, मौर्य सम्राट अशोक, अहिंसा, कलिंग युद्ध, Ahinsa, Ahimsa

सम्राट अशोक कलिंग विजय करके लम्बी अवधि के बाद घर लौटे. इस बार राज्यारोहण का उत्सव बड़े शानदार ढंग से मनाया जा रहा था. अशोक अपनी माता का बहुत सम्मान करते थे. इस अवसर पर उनका विशेष आशीर्वाद पाने के लिए वे उनके कक्ष में गए और संक्षेप में अपनी विजय एवं कलिंग के ढाई लाख लोगों के संहार का किस्सा कह सुनाया. यह सुनकर राजमाता फफक फफक कर रोने लगी. बोली- मारे गए ढाई लाख लोगों में से एक तू भी रहा होता तो मेरे ऊपर क्या बीतती? माता के रुदन से अशोक का दृष्टिकोण उलट गया. उन्होंने उत्सव के आयोजन को रद्द कर दिया. अहिंसा के मार्ग पर चलने के लिए वह भगवान् बुद्ध का उपदेश लेने पहुंचा और जो कमाया तथागत को सौंप दिया. माता की करुणा का था यह चमत्कार. 

Courtesy : स्वाध्याय सन्देश 
  

Story on Mother in Hindi


Story on Mother in Hindi, Chanakya Tales, Chanakya History in Hindi, Maa Beta, माँ बेटे की कहानी, माँ-बेटा, चाणक्य, Maa aur Bete ki Kahani

'चाणक्य ! तुम्हारे मुख के आगे के दोनों दांतों से जाहिर होता है कि तुम चक्रवर्ती बनोगे.' आगत संत ने भविष्यवाणी की. भविष्यवाणी सुनने के बाद मां बोली - 'बेटा ! ईश्वर करे तुम चक्रवर्ती बनो'. पर व्यक्ति धन और अधिकार पाकर अपने सगे-सम्बन्धियों को भूल जाता है. तुम वैसा ही न कर बैठना. इतना कहते-कहते माता की आँखों से दो बूँद आंसू छलक आये. आंसू प्रसन्नता के थे लेकिन चाणक्य ने कुछ और ही समझा. वह दौड़कर आँगन में गया और अपने मुंह के आगे के दोनों दांत तोड़ लाया. 
बेटे का लहू - लुहान मुंह देखकर माँ ने घबराकर कहा- यह क्या किया ? 
मैंने चक्रवर्ती के लक्षणों को समाप्त कर दिया है माँ ! चाणक्य ने कहा. माँ ! अब रोना मत. मैं जीवन भर तुम्हारे पास रहूँगा. मेरे लिए राज्य वैभव से अधिक वैभवशाली तुम हो. 

Courtesy : स्वाध्याय सन्देश