Thursday, January 19, 2017

Poem on Home in Hindi

घर की याद पर कविता, मेरा मकान शायरी. Poem on Home in Hindi for Kids. Missing My Sweet House Poetry, Homesickness Nursery Rhymes, Household Lines, Residence.
Poem on Home in Hindi

अपना घर है सबसे प्यारा

घर से निकली पंख पसार
देख लिया सारा संसार
उत्तर, दक्षिण, पूरब, पश्चिम
कर आई चहुँ ओर भ्रमण।

सुन्दर था जग का हर कोना
फिर भी मुझको पड़ा लौटना
सुन्दरता जग की ना भायी
घर की मुझको याद सताई।

नैना मेरे थे बेचैन
घर लौटी तब आया चैन
माना मेरे दिल ने यारा
अपना घर है सबसे प्यारा।

By Monika Jain 'पंछी'

 
Watch/Listen the video of this poem about home :