Friday, January 25, 2013

Prem Kavita in Hindi


Keywords : Prem Kavita in Hindi, Pyar ka Ehsas Poem, Ehsaas Poetry, Ajnabi Shayari, Prem Kahni, Love Story Sms, Messages, Slogans, हिंदी कविता, प्रेम कहानी, प्यार का अहसास, शायरी, Poems

एक अजनबी से मुलाकात हुई 
धीरे-धीरे कुछ बात हुई 
अल्फाज़ बयां उसने जो किये 
दिल को वो मेरे छू से गए।
जादू सा जैसे छाने लगा 
सपनों में अब वो आने लगा 
बिन बात के मैं मुस्काने लगी 
मदहोशी सी कुछ छाने लगी।
बातों का दौर चलने लगा 
मुलाकातों में वो बदलने लगा 
हर रोज नया सवेरा हुआ 
ख्वाबों पर उसका पहरा हुआ 
हर शाम मेरी मस्तानी हुई 
जब शुरू प्यार की कहानी हुई 
इनकार में भी इकरार हुआ 
हाँ माना मैंने प्यार हुआ। 

Monika Jain 'पंछी'