Tuesday, January 22, 2013

Story on Fear in Hindi


Keywords : Story on Fear in Hindi, Bhay, Dar, Rat, Cat, Dog, Lion, Shikari, Hunter, Human, Kahani, Katha, Tale, भय, डर, हिंदी कहानी, कथा, Tales


एक चूहा था, उसे बिल्ली से सदैव डर लगता था। एक बार एक ऋषि ने वरदान दिया और वह बिल्ली बन गया। बिल्ली का भय मिटा तो कुत्ते का भय सताने लगा। ऋषि ने अब उसे कुत्ता बना दिया। कुत्ता बनने पर अब उसे शेर का भय सताने लगा। सोचने लगा - अब मुझे किसी का भय नहीं है, सिर्फ शिकारी का डर लगता है। ऋषि ने पूछा अब तुम क्या चाहते हो ? मनुष्य बना दूँ ? नहीं, मैंने स्पष्ट अनुभव कर लिया है कि कहीं भी अभयता नहीं है, सर्वत्र भय है अतः मुझे तो पुनः चूहा बना दो। 

ऋषि ने कहा - 'पुनर्मुषको भव' - कहकर उसे चूहा बना दिया। इसी प्रकार जो अपरिपक्व साधना से आगे बढ़ने की सोचता है, उसे वापस लौटना पड़ता है। 

Courtesy : Swadhayay Sandesh