Tuesday, January 22, 2013

Story on Greediness in Hindi




Keywords : Short Story on Greediness in Hindi, Greed, Selfishness, Lalach, Human Nature, Swarth, Cow, Animals, Kahani, Katha, Tales, लालच, स्वार्थ भावना, हिंदी कहानी, कथा, Tale



चार आदमियों ने मिलकर एक गाय खरीदी। गाय एक मालिक चार। एक व्यक्ति के घर पहले दिन गाय रही। दोनों समय दूध निकाला। चारा पानी का जब समय आया तो उसने सोचा - यह गाय तो मेरे पास आज है, कल जिसके पास रहेगी, वह खिलायेगा पिलाएगा। मैं क्यों चिंता करूँ। कल गाय दूसरे के पास रही। उसने भी तर्क सोचा कि कल गाय जिसके पास रही उसने इसे चारा डाला ही है और कल आगेवाला डालेगा ही। ऐसा सोचकर उसने भी चारा नहीं डाला। फलस्वरूप गाय ने दूध कम कर दिया। तीसरे और चौथे व्यक्ति ने भी यही तर्क सोचा। शने: शने: गाय का दूध ही सूख गया और गाय मर गयी। यह है मनुष्य की स्वार्थ भावना।

Courtesy  : Swadhayay Sandesh