Sunday, March 3, 2013

Poem on Bravery in Hindi


Keywords : Poem on Bravery in Hindi, Bahaduri par Kavita, Courage, Brave, Life Challenges, Adventure, Daring, Boldness, Sahas, Veerta, Shayari, Poetry, Slogans, Sms, हिंदी कविता, बहादुरी, वीरता, साहस, शौर्य, चुनौती शायरी, Challenge, Dare, Messages

जिन मुश्किलों में मुस्कुराना था मना 
उन मुश्किलों में मुस्कुराते हम रहे।
जिन रास्तों की थी नहीं मंजिल कोई 
उन रास्तों पे हम मगर चलते रहे।
जिस दर्द को दरकार थी आंसुओं की 
उस दर्द में आंसू हमारे ना बहे।
जो ख़्वाब रूठे थे हमारी जिंदगी से 
वो ख़्वाब आँखों में मगर पलते रहे।
मुंह मोड़ के रिश्ते हमारे चल पड़े 
यादों में उनकी हम मगर जीते रहे।
 आते रहे तूफ़ान हमको लीलने को 
हम मगर लहरों के संग लड़ते रहे।
जिंदगी ने कर दिया इंकार जीने से मगर 
मौत को भी हर कदम पे, मात हम देते रहे। 

Monika Jain 'पंछी'