Monday, April 8, 2013

Poem on Feelings in Hindi


Keywords : Poem on Feelings in Hindi, Ehsas Kavita, Ehsaas Poetry, Ahsas Shayri, Sms, Messages, हिंदी कविता, शायरी, अहसास, Slogans

रात में एक सच्ची बात बताता हूँ
जो मैंने अभी तक नहीं कही
तुम पूछती हो ना
कि मैं इतने कम समय में 
तुम्हें लेकर इतना स्योर कैसे हूँ ???
हाँ तो बात सिम्पल है
एक अजीब सी खुशी मिलती है
जब तुम्हारा जिक्र आता है
मन मयूर नाच उठता है
जब भी तुम्हें पाने का एहसास हो आता है
और कैसे बताऊँ
कैसे उसे संक्षिप्त करूँ
संक्षिप्त क्या 
किन शब्दों में वर्णित करूँ
उस पल के हालात को
मेरे मिज़ाज़ को
जो भी मैं कहना चाहूँ
बर्बाद करें अल्फाज़ मेरे।

Randhir 'Bharat' Chaudhary