Monday, August 19, 2013

Story of King and Beggar in Hindi


Story of King Beggar in Hindi, Raja Bhikari ki Kahani, Begging, Bhikhari, Bhiksha, Katha, Tale, Cadge, Demand, Ruler, Emperor, Donation, Giving, Charity, राजा, भिखारी, हिंदी कहानी, कथा, भीख, भिक्षा 

एक भिखारी बैठा था। उसी रास्ते से राजा की सवारी निकलने वाली थी पुलिस ने आकर कहा - हटो, राजा की सवारी आ रही है। भिखारी बोला - क्यों हटूं, रास्ता सभी का है। पुलिस ने कहा - राजा वह होता है जो हर किसी को अपने देश से निकाल सकता है। अच्छा! इतना समर्थ हैं राजा। तो उससे कहो - इन सारे मच्छर मक्खियों को राज्य के बाहर निकाल दो। उसके उत्तर से पुलिस चकित हो गयी। उसने कहा - राजा बहुत बड़ा आदमी होता है, उसके महल पर रात दिन पहरा लगता है। अच्छा, तो वह एक कैदी है।

इतने में राजा की सवारी आ गयी। वह एक मंदिर के आगे आकर रुकी। राजा मूर्ति के सामने खड़े होकर मांगने लगा - हे प्रभो! मेरे वैभव सम्पदा को बढ़ाना आदि। भिखारी कोने में खड़ा-खड़ा सुन रहा था। राजा की दृष्टि उस पर पड़ी। उसने कहा - कुछ चाहते हो ? मांगो, जो मांगना है। उस भिखारी ने कहा - आया तो था कुछ मांगने। किन्तु अभी मैंने देखा है कि आप भी भिखारी हैं। मैं छोटा भिखारी हूँ, आप बड़े भिखारी हैं। भिखारी भिखारी को क्या देगा। 

Courtesy : Swadhyay Sandesh