Sunday, August 18, 2013

Story on Resolution in Hindi


Story on Resolution in Hindi, Dridh Sankalp Shakti, Human Power, Determination, Powerful, Effective, Influential, Impressive, Force, Bal, Takat, Kahani, Katha, Tale, हिंदी कहानी, मनुष्य की दृढ़ संकल्प शक्ति, बल, प्रभावशाली, कथा, प्रभाव 

गुरु के साथ शिष्य चले जा रहे थे।  रास्ते में एक बड़ी चट्टान दिखी। शिष्य ने गुरु से पूछा - गुरुदेव! यह चट्टान बड़ी कठोर है, क्या चट्टान से कठोर कोई चीज है ? गुरु कुछ बोलें, इससे पहले ही दूसरा शिष्य बोला - चट्टान से भी कठोर लोहा है जो इस चट्टान को भी तोड़ सकने की सामर्थ्य रखता है।  तो पहले वाले शिष्य ने पुनः पूछा - गुरुदेव! तो क्या लोहे से भी ज्यादा कोई कठोर चीज है ? तीसरे शिष्य ने तुरंत जवाब दिया - लोहे से भी ज्यादा प्रभावशाली अग्नि है जो लोहे को भी गला देने की सामर्थ्य रखती है। तभी चौथे शिष्य ने कहा कि गुरुदेव! अग्नि से ज्यादा प्रभावशाली है पानी जो अग्नि को भी बुझा देने का सामर्थ्य रखता है।  शिष्य की बात पूरी हो ही नहीं पायी थी कि अगले शिष्य ने कहा - गुरुदेव! मुझे तो पानी से भी प्रभावशाली दिखाई पड़ती है हवा। जो पानी को भी उड़ा ले जाती है। शिष्यों का यह क्रम चल रहा था। अगला शिष्य कुछ बोलने वाला ही था कि गुरु बोले - सुनो, सबसे ज्यादा प्रभावशाली यदि कुछ है तो वह है मनुष्य के मन का संकल्प। मनुष्य अपने संकल्प के बल पर पाषाण को तोड़ सकता है, लोहे को गला लगा सकता है, आग को बुझा सकता है और पानी को उड़ा सकता है। सब कुछ मनुष्य के संकल्प पर है। मनुष्य का संकल्प यदि दृढ़ है तो बुरे से बुरे संस्कारों को भी जीता जा सकता है।

Courtesy : Swadhyay Sandesh