Friday, September 2, 2016

Poem on Forgiveness in Hindi

क्षमापना दिवस. क्षमा वाणी पर्व कविता, मिच्छामी दुक्कड़. Poem on Forgiveness in Hindi. Uttam Kshama Yachna, Maafi Shayari, Sorry Sms, Apology Status, Messages.

क्षमा

क्षमा से नफ़रत के शूल गलते हैं
क्षमा से ही प्यार के फूल खिलते हैं
क्षमा का प्रभाव है कुछ ऐसा
दुश्मन भी बन दोस्त गले मिलते हैं।

जितना सुन्दर शब्द है ये
उतना ही सुन्दर इसका होना
क्षमा बनाती है निर्मल
मन मंदिर का हर एक कोना।

क्षमा मांगने और कर देने से
बनता है एक पूर्ण व्यक्तित्व
अहंकार न टिक पाता
जहाँ होता है क्षमा का अस्तित्व।

न देकर गलतियों की माफ़ी
कर रहे हम अपने साथ नाइंसाफी
घूम रहे हैं लेकर बोझ
बने हुए खुद के अपराधी।

तो आओ इस क्षमा दिवस पर
कर दे हम एक दूजे को माफ़
दिल में भरा जो कूड़ा करकट
कर दे उसको बिल्कुल साफ़।

By Monika Jain 'पंछी'

Feel free to add your views via comments about this poem on forgiveness.