Wednesday, October 2, 2013

Poem on Maa in Hindi


Poem on Meri Maa in Hindi Language for Kids, Maa Baap Par Kavita, Ma ki Mamta, Mother, Happy Mothers Day, Indian Mom, Mummy, Lines, Short Poetry, Shayari, Sms, Thoughts, Slogans, Messages, Rhymes, Songs, Mata, Sher,  Poems, Kavitayen, Suvichar, Sayings, Mgs, Children, Dohe, Panktiyan, Beti, Son, Beta, Pyar, Muktak, Daughter, मेरी माँ पर छोटी हिंदी कविता, माँ की ममता, शायरी, दोहे

माँ !

कहाँ से लाती हो इतनी शक्ति 
कहाँ से लाती हो इतना प्यार
कहाँ से लाती हो इतना समर्पण 
और कहाँ से लाती हो इतना त्याग ?

रोज सवेरे पहले उठकर 
और लेकर ईश्वर का नाम 
बिना स्वार्थ के लग जाती हो 
करने हम सबके तुम काम. 

चूल्हा-चोका, झाड़ू, बर्तन 
घर में होते ढेरों काम 
बन मशीन तुम चलती रहती 
तुम्हे नहीं कोई आराम. 

तुम्हे ना देखा मैंने करते 
बीमारी का कोई बहाना 
जैसे हम बच्चे करते हैं 
ओढ़ के चद्दर झट सो जाना. 

नहीं तुम्हारी कोई इच्छा 
नहीं तुम्हारा कोई सपना 
हम सबके जीवन को तुमने 
मान लिया है जीवन अपना. 

बरसाती हो प्यार अनोखा 
जैसे शीतल हवा का झोंका
आने वाली हर विपदा को 
तुमने आगे बढ़कर रोका.

तेरे आँचल की छाया में 
आती सबसे गहरी नींद 
हर संकट में बनती हो 
तुम सबसे पहली उम्मीद. 

हर मुश्किल में आती हो 
सबसे पहले तुम ही याद 
माँ मुझको तुम लगती हो 
ईश्वर की कोई फरियाद. 

Monika Jain ‘पंछी’


Mother ( Maa ) is like an angel in our Life. She is full of compassion, love, dedication, power and sacrifice. She lives for our dreams. Her selflessness is unbeatable. She does everything for us without wishing anything in return. Mother’s love is the purest form of love in this world. She protects us from every trouble. She is the synonym of God, even greater than him in our life. I love my Mummy and The above Hindi Poem ‘Meri Maa’ is dedicated to my Mom.