Monday, September 16, 2013

Poem on Positive Attitude in Hindi


Poem on Positive Attitude in Hindi, Positive Thinking, Determination, Fighting with Pain, Sakaratmak Soch, Vichar, Keep Moving, Kavita, Poetry, Lines, Shayari, Sms, Messages, Slogans, Never Give Up, Himmat, Trust, Takat, Sahas, Hopes, Morale, Courage, Bravery, Life Struggles, Challenges, Adventure, Daring, हिंदी कविता, सकारात्मक सोच, विचार, दृढ़ निश्चय, लड़ाई, हिम्मत, दर्द, शायरी, मुक्तक, साहस   

सुनो दर्द !
तुम चाहे हद से गुजर जाओ 
चाहे कितना भी कहर बरसाओं 
जुल्म करो ढेरो मुझ पर 
चाहे कितना भी सितम ढाओं.

पर लडूंगी मैं तुमसे 
जब तक चल रही मेरी साँस है 
किसी को हो ना हो 
पर मुझे खुद पर पूरा विश्वास है. 

मेरी कमजोरियों को 
अपनी ताकत ना समझना 
मेरी मजबूरियों को 
अपनी हिमाकत ना समझना.

क्योंकि मेरी हिम्मत ही मेरी 
सबसे बड़ी आस है  
किसी को हो ना हो 
पर मुझे खुद पर पूरा विश्वास है. 

हार मान लेना 
ये मुझसे हो ना पायेगा 
लडती रहूंगी मैं हर पल 
चाहे तू  कितना भी मुझे सताएगा. 

क्योंकि मनोबल के सिवा 
कुछ भी नहीं मेरे पास है 
किसी को हो ना हो 
पर मुझे खुद पर पूरा विश्वास है. 

हाँ, जीतना मेरा कोई 
ख़्वाब नहीं है 
पर रुक कर बैठ जाना 
ये भी तो कोई बात नहीं है. 

चलती रहूंगी निरंतर 
क्योंकि चलना ही मेरे लिए खास है 
किसी को हो ना हो 
पर मुझे खुद पर पूरा विश्वास है. 

Monika Jain 'पंछी'