Friday, April 4, 2014

Laghu Kahani in Hindi


Laghu Kahani in Hindi Language, Terrible Dream, Mask, Terrific, Horrible, Scary, Bhayanak Sapna, Haqeeqat, Reality, Story, Katha, Tale, Stories, Kahaniyan, Tales, Kathayen 

सपने की हकीकत 

कल रात मैंने एक अजीब सा सपना देखा. मैं एक शांत, सुव्यवस्थित और बड़े ही मनोहर से शहर के बीचों-बीच खड़ी थी. कई सभ्य, शालीन और सुसंस्कृत से दिखाई पड़ने वाले लोगों की बैठके जगह-जगह चल रही थी. उनमें से एक समूह अहिंसावादियों का था, जहाँ अहिंसा के महत्व को समझाया जा रहा था. एक समूह नारीवादियों का था, जो नारी स्वतंत्रता, सम्मान और सुरक्षा पर चर्चा कर रहा था. एक समूह धार्मिक साधु, संतों और सन्यासियों का था जो धर्म, त्याग, मोक्ष, तप और ब्रह्मचर्य आदि पर चिंतन-मनन कर रहा था और एक समूह भ्रष्टाचार के उन्मूलन के उपायों पर विमर्श कर रहा था. ऐसे ही कई समूह थे जिनमें कई अच्छे-अच्छे विषयों पर चर्चाएँ चल रही थी. 

मैं बहुत खुश थी. क्योंकि दुनिया एक बेहतर जगह बन रही थी. धीरे-धीरे शाम होने लगी. अँधेरा गिरने लगा. मुझे टक-टक सी कुछ गिरने की आवाजें आने लगी. ध्यान से देखा तो मालूम चला बहुत सारे मुखौटे जमीन पर गिर रहे थे. ये सब मुखौटे उन सभ्य और शालीन लोगों के चेहरों से मिल रहे थे जिन्हें मैंने दिन में देखा था. चारों ओर नज़र दौड़ाई तो देखा वह शहर एक भयानक जंगल में तब्दील हो चुका था और वे सभ्य और शालीन से दिखने वाले लोग खूंखार भेड़ियों में. 

एक तरफ एक अहिंसावादी किसी की निर्मम हत्या करके उसका खून पी रहा था. दूसरी ओर एक नारीवादी एक औरत को बेरहमी से पीट कर उसका बलात्कार कर रहा था. पास ही में एक भ्रष्टाचार विरोधी पैसों से भरा एक सूटकेस छिपाने के लिए जमीन में एक गड्डा खोद रहा था, जो अभी-अभी उसे कोई देकर गया था और एक धर्म गुरु शराब और अफीम के नशे में धुत होकर कई लड़कियों के साथ अय्याशी कर रहा था.

अचानक मेरी आँख खुली. मैं पसीने से लथपथ और बहुत घबराई हुई थी. मेरे जीवन का यह सबसे भयानक सपना था जो दुर्भाग्य से इस दुनिया की हकीकत है.

By Monika Jain ‘पंछी’

How is this short story ( laghu kahani ) about the reality of a horrible dream ?