Sunday, December 14, 2014

How to Make Natural Colours for Holi


How to Make Natural Colours for Holi Festival at Home in Hindi Language, Homemade Organic Chemicals Free Herbal Colors, Eco Friendly, Environment Friendly, Indian Festival, Artificial, Toxic, Play Safe Holi Ideas, Tips, होली त्योहार के लिए प्राकृतिक रंग बनाने का तरीका, विधि, हर्बल कलर्स, पर्यावरण के अनुकूल, पारिस्थितिकी हितैषी रंग 

How to Make Natural Colours for Holi

होली के अवसर पर बाजार में मिलने वाले कृत्रिम रंगों में काले रंग में लेड ऑक्साइड, लाल रंग में मरकरी सल्फाइड, सिल्वर रंग में एल्युमीनियम ब्रोमाइड, हरे रंग में कॉपर सल्फेट और नीले रंग में प्रुसियन ब्लू आदि पदार्थ पाए जाते हैं. ये पदार्थ चर्म रोगों, एलर्जी और आँखों की रोशनी के लिए भी नुकसानदायक है. अस्थमा के मरीज के लिए या डस्ट एलर्जी से परेशान लोगों के लिए अबीर, गुलाल या सूखे रंग बेहद नुकसानदायक है. इन सभी नुकसानों से बचने के लिए हम घर पर भी हर्बल प्राकृतिक रंग बना सकते हैं, जो त्वचा के लिए फायदेमंद भी होते हैं और आसानी से उतारे भी जा सकते हैं.

लाल रंग : 
  • दो चम्मच लाल चंदन (रक्त चंदन) को एक लीटर पानी में उबालने पर और ठंडा करने पर हमें औषधीय गुणों से युक्त लाल रंग मिलता है. 
  • बुरांश के फूलों को रात भर पानी में भिगोकर सुर्ख लाल रंग बनाया जा सकता है.
  • गुड़हल के फूलों को सुखाकर और पीसकर लाल रंग बनाया जा सकता है.
  • मूली और अनार के मिश्रण से लाल रंग तैयार किया जा सकता है.
  • केसर उबालकर भी लाल रंग बनाया जा सकता है.
  • इसी तरह लाल जवा फूल, टमाटर, पलाश या ढाक के फूल, मांदर और कुमकुम से भी लाल रंग बनाया जा सकता है. 
गुलाबी रंग : 
  • दस-बारह प्याज के छिलकों को आधा लीटर पानी में रात भर के लिए भिगोकर रख दें. सुबह छिलकों को हटा दें. गुलाबी रंग तैयार हो जाएगा.
  • चुकंदर को कद्दूकस कर एक लीटर पानी में उबालें और पूरी रात भीगने के लिए छोड़ दें. गहरा गुलाबी रंग बन जाएगा. 
  • कचनार के फूलों को पानी में रात भर भिगोकर रखने या फिर उबालने से भी गुलाबी रंग बनाया जा सकता है. 
नीला रंग : 
  • केरल में मुख्य रूप से पाए जाने वाले नीले रंग के गुड़हल के फूल को सुखाकर व पीसकर नीला रंग बनाया जा सकता है. 
  • इसी तरह नील, अंगूर, बेरी, जकारंडा से नीला रंग बनाया जा सकता है. 
पीला रंग :
  • अमलतास और गेंदा के फूलों को सुखाकर और पीसकर भी पीला रंग बना सकते हैं. 
  • चार चम्मच बेसन में दो चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पीला रंग बनाया जा सकता है. 
नारंगी रंग : 
  • नींबू और हल्दी को मिलाकर नारंगी रंग बना सकते हैं. 
हरा रंग :
  • मेहन्दी की पत्तियों को सुखाकर उसका बारीक चूर्ण बनायें. इसमें आवश्यकतानुसार आटा या मैदा मिला लें. हरा रंग बन जाएगा. 
  • गुलमोहर की पत्तियों को सुखाकर, उसका महीन चूर्ण बनाकर, संतुलित मात्रा में मैदा या आटा मिलाकर हरा रंग बनाया जा सकता है.
  • पालक को पीसकर भी हरा रंग बनाया जा सकता है.
भूरा रंग : 
  • चाय की पत्तियों को पानी में उबालकर भूरा रंग बनाया जा सकता है. 
काला रंग :
  • काले अंगूर, आंवला, चारकोल आदि से काला व मटमैला रंग बना सकते हैं. 

Have a safe and happy Holi with these natural, organic, herbal, eco-friendly colours.