Monday, September 7, 2015

Poem on Death in Hindi

 
Poem on Death in Hindi. Funeral Poetry, Passing Away Quotes, Dying, Decease Lines, Die Sms, Maut par Kavita, Mrityu Shayari, Loss of Loved One Status, Departure Rhymes, Dead. मृत्यु कविता, मौत शायरी.

बोध
 
वो जो मर गया
वो, जो अजीब इंसान था बहुत
बड़ी जल्दी मर गया.
 
ज्यादा खाता पीता नहीं था
बाजार का तो कुछ भी नहीं
खाना भी खाता
तो पसीने आने लगते
उससे कहना पड़ता
कि ए फलाने! हई ले आवऽ बजारे से.
 
वो
कभी बफौरी कहता
बनाने के लिये
लेकिन फिर मना कर देता
अब उसके प्रति की गयीं
गलतियाँ
छोटी ही सही
बड़ी लगती हैं.
 
जैसे दही में नमक
ज्यादा डाल देने पर
वो झल्लाया था
कि ‘अब त ई जहर हो गईल.’
 
अब सोचता हूँ,
तो लगता है
कि मेरा भी कुछ योगदान था
उसके मरने में.

By Aman Tripathi