Wednesday, May 4, 2016

Essay on Life is a Struggle in Hindi

Essay on Life is a Struggle in Hindi. Sangharsh Hi Jeevan Hai par Nibandh. Zindagi Lekh, Challenges Paragraph, Battle Field Article, Story, Speech. Anuched. जीवन एक संघर्ष पर निबंध, ज़िन्दगी लेख.
 
जीवन : एक संघर्ष...
 
हर दिन मुश्किलें परवान चढ़ती है, हर दिन हौसला टूटता है। फिर से सब कुछ जोड़ती हूँ, फिर सब कुछ बिखर जाता है। बहुत मुश्किल है ऐसे जीना...तब, जब दर्द का कोई अंत न हो, कोई सीमा नहीं, खत्म होने की कोई तारीख़ भी नहीं! तब, जब उसे सिर्फ बढ़ना ही है, तो जीतना कैसे हो पायेगा? जानती हूँ नहीं हो पायेगा। हाँ, पर हारना भी तो नहीं है न! बिल्कुल नहीं! किसी कीमत पर नहीं!
 
चाहे कोई कितना भी निडर और हिम्मती कहे...चाहे मैं खुद कितना भी बेख़ौफ़ रहना चाहूँ...पर ये जो रात के सन्नाटे होते हैं न, बड़े जालिम होते हैं। न चाहते हुए भी न जाने कितने खौफ एक-एक करके सामने ला खड़े करते हैं।

काश! ये खौफ़ निरे खौफ़ होते। पर ये डर ऐसे वैसे भी तो कहाँ हैं? दिल को चीरकर रूह को भी कंपा देने वाले ये डर एक दिन मेरी नियति है। एक कठोर सच! नहीं जानती कैसे कर पाऊँगी इन सच्चाईयों का सामना? नहीं जानती कैसे जी पाऊँगी इन सच्चाईयों के साथ? सच! नहीं जानती।

कभी-कभी समझ नहीं आता क्यों कुछ जीवन सिर्फ संघर्षों से भरे होते हैं? क्यों किसी के हिस्से सिर्फ दर्द ही आता है? क्यों आंसूओं से भीगी कलम से ही किसी की किस्मत लिखी जाती है? क्यों किसी का जीवन सिर्फ परीक्षा बनकर रह जाता है? क्यों?

हिम्मत, साहस, विश्वास सबको मैंने बहुत लिखा, बहुत जीया, बहुत दिया, पर कब तक? कोई तो सीमा हो? कभी तो दिल करेगा न टूट कर बिखर जाने को। पर नहीं! शायद कुछ लोगों को टूटने और बिखरने का अधिकार भी नहीं होता। मैं जानती हूँ, मुझे भी यह अधिकार नहीं। मुझे भी तो सिर्फ डंटे रहना है, अपनी आखिरी सांस तक...इस विश्वास के साथ कि जीतना या हारना मायने नहीं रखता, मायने रखता है सिर्फ चुनौतियों को स्वीकार करना और उनका सामना करना। ज़िन्दगी का सफ़र कितना लम्बा हो, ये मायने नहीं रखता, मायने रखता है हर पल में जीया गया जीवन!

By Monika Jain ‘पंछी’
 
How is this hindi essay about life struggles?