Saturday, June 25, 2016

Amazing Facts about Animals and Birds in Hindi

जानवरों, पशुओं, पक्षियों के बारे में जानकारी. Amazing Fun Facts about Animals Birds in Hindi. Funny, Weird Creatures Information, Interesting General Knowledge.

Amazing Facts about Animals and Birds

  • लकड़ी खाने के मामले में दीमक का कोई जवाब नहीं, पर मजेदार तथ्य यह है कि हर तरह की लकड़ी खा जाने की कुवत रखने वाली दीमक स्वयं इसे पचा भी नहीं सकती। इसे पचाने के लिए दीमक को दूसरे सूक्ष्म जीव के साथ पार्टनरशिप करनी पड़ती है, जो इसके साथ इसी की आँतों में बसा रहता है। इस पार्टनरशिप में दीमक का काम सिर्फ लकड़ी को चबाकर इसे निगल लेना भर होता है और आँतों में बैठे दूसरे पार्टनर, जो प्रोटोजोअंस कहलाते हैं, इस लकड़ी की लुगदी को भोजन में बदल देते हैं, जिस पर दोनों अपना जीवन निर्वाह करते हैं।
  • पिस्सु अपनी लम्बाई के 350 गुने ऊँचाई तक बढ़ सकता है। यह ऊंचाई एक फुटबॉल के मैदान जितनी लम्बी मानी जा सकती है।
  • शुतुरमुर्ग पर 80 साल के सर्वे के दौरान ऐसा कोई केस नहीं पाया गया जब उसने अपना सर रेत में न दफनाया हो। 
  • टाइगर्स अपना खाना शेयर करते हैं। मादा और बच्चों को पहले खाने देते हैं। जबकि लायन अपने किये हुए शिकार को खाने के लिए एक दूसरे से लड़ पड़ते हैं। लगभग 90 % मादा शेर शिकार करती हैं। 
  • घोड़ों के दांतों को गिनकर नर और मादा की पहचान की जा सकती है। अधिकतर नरों के दांत 40 जबकि मादा के दांत 36 होते हैं। 
  • सामान्यतया एक कुत्ते की आँखों की रौशनी मानव से अच्छी होती है लेकिन उतनी रंगदार नहीं।
  • कुत्ते और बिल्लियाँ मनुष्य की तरह लेफ्ट या राइट हैंडेड होते हैं। 
  • चूहों की संख्या बहुत तीव्र गति से बढ़ती है। एक जोड़ा एक साल में लाखों संतानें पैदा कर सकते हैं।
  • चूहों की याददाश्त बहुत अच्छी होती है। वे एक बार कोई रास्ता देख लेते हैं तो उसे दोबारा नहीं भूलते।
  • एक चूहा 5 मंजिला इमारत से गिरने पर भी चोट नहीं खाता। 
  • एक ऊँट की तुलना में एक चूहा ज्यादा लम्बे समय तक बिना पानी के जिन्दा रह सकता है। 
  • मगरमच्छ अपनी जीभ को बाहर नहीं निकाल सकता। इसके अतिरिक्त इसका पाचक रस इतना तेज होता है कि यह एक लोहे की कील को भी पचा सकता है। 
  • अधिक गहराई तक जाने के लिए मगरमच्छ अपने पेट में पत्थर निगल लेता है।
  • आस्ट्रेलिया में पायी जाने वाली नन्हीं डकबिल अपने गालों में विशेष थैलियों के कारण लगभग 600 कीड़ें स्टोर कर सकती है। 
  • शारीरिक तौर पर सूअरों के लिए आकाश की ओर देखना असंभव है। 
  • एक साही का दिल एक मिनट में औसतन 300 बार धड़कता है। 
  • फिलिपींस में मुर्गों की लड़ाई का एक बाज़ार है जहाँ पर 500000 मुर्गों को एक ही समय में लड़ाया जाता है। 
  • दुनियाभर में चमगादड़ की लगभग 900 प्रजातियाँ पायी जाती है। ये सभी उड़ सकती है। 
  • चमगादड़ों के सुनने की क्षमता बहुत ज्यादा होती है। वे एक बाल की हरकत को भी सुन सकते हैं।
  • अन्य प्रजातियों की तुलना में वैम्पायर प्रजाति के चमगादड़ के कम दांत होते हैं। यह चमगादड़ सिर्फ दूसरे जीवों के खून को अपना आहार बनाती है। इसलिए अपना खाना चबाती नहीं है। 
  • चमगादड़ देख नहीं पाती। उड़ते समय यह ध्वनि उत्पन्न करती है, जिससे इसे मार्ग का ज्ञान होता है। 
  • केंचुआ अपने वजन से दस गुना अधिक वजन खींच सकता है। 
  • दक्षिण अफ्रीका के जंगलों में जहरीली त्वचा वाले मेंढक पाए जाते हैं। आदिवासी इनके जहर को बाणों में लगाकर शिकार करते हैं, इसलिए इन्हें एरो मेंढक कहा जाता है। 
  • नीला रंग मच्छरों को किसी अन्य रंग की अपेक्षा ज्यादा आकर्षित करता है। 
  • गिलहरी का एक दांत हमेशा बढ़ता रहता है। 
  • छिपकली का दिल 1 मिनट में एक हजार बार धड़कता है। 
  • समुद्री केकड़े का दिल उसके सिर में होता है। 
  • धरती पर चींटियों का भार सारे मनुष्यों के भार के बराबर है। 
  • तितली स्वाद का पता अपने पैरों से लगाती है। 
  • साँपों की लगभग 5000 प्रजातियाँ होती है। जिनमें से 725 में विषदंत पाये जाते हैं और 250 ऐसी होती है जिनके एक ही दंश में मानव को मार देने की क्षमता होती है। 
  • बिच्छू की कोई 2000 प्रजातियाँ पायी जाती है। न्यूजीलैंड और अन्टार्कटिका को छोड़कर ये विश्व के सभी भागों में पायी जाती है।
  • दो अलग-अलग मकड़ियों के झाले कभी भी एक ही तरह के नहीं होते हैं। 
  • टैरनटला मकड़ी बिना खाने के 2.5 वर्षों तक रह सकती है। 
  • डॉलफिन का वैज्ञानिक नाम डेल्फिनिडे है। 
  • डॉल्फिन माँसाहारी होती है। अन्य मछलियाँ और दूसरे जलीय जीव इनका आहार होते हैं। 
  • डॉल्फिन की लम्बाई तकरीबन दस फीट होती है। ओरका प्रजाति की डॉल्फिन को किलर व्हेल कहा जाता है। 
  • केपल कैस्पियन और सेंट्रल एशिया स्थित खारे पानी की एरल झील को छोड़कर दुनिया के सभी महासागरों, खारे और साफ पानी की झीलों में डॉल्फिन पायी जाती है। 
  • निद्रा अवस्था में भी डॉल्फिन की एक आँख खुली रहती है। 
  • डॉल्फिन अच्छी तैराक होती है। बॉटलनोज डॉल्फिन 30 किमी./घंटा की रफ्तार से दौड़ सकती है। 
  • डॉल्फिन की औसत आयु लगभग 20 साल होती है। बॉटलनोज डॉल्फिन की औसत आयु 40 से 50 साल होती है। 
  • तैरती हुई डॉल्फिन के समूह को पॉड कहा जाता है। 
  • मछलियों की मेमोरी बस कुछ सेकंड्स की होती है। 
  • सामान्य धारणा है कि मछली को पानी से बाहर निकालने पर वह जीवित नहीं रह सकती। लेकिन एंगुइला (ईल) मछली, मरेल, मड स्किपर, आदि जमीन पर भी आसानी से चल लेती हैं। 
  • मछलियों की कुछ प्रजातियाँ जैसे टेट्रोडॉन, पर्च, ईल, स्नैपर, साइप्रिनसकारपिओ आदि विषैली होती हैं। 
  • गोल्डफिश की मेमोरी गर्म पानी की अपेक्षा ठन्डे पानी में बेहतर होती है। 
  • मिनोज नामक छोटी मछली के दांत उसके गले में पाए जाते हैं। 
  • विश्व में पक्षियों की कुल 8650 प्रजातियाँ पायी जाती है। जिसमें से 1230 भारत में ही पायी जाती है। 
  • समुद्र या किसी नदी के किनारे घूमने वाले राजहंस पक्षी की आवाज़ तीन मील तक सुनी जा सकती है। 
  • सबसे लम्बे पंख वाला पक्षी होता है अल्बाट्रोस। ये पंख 12 फुट ऊंचे होते हैं। 
  • पैंग्विन, औस्ट्रिच और किवी ऐसे पक्षी हैं जो उड़ नहीं पाते। 
  • पक्षियों के पंखों का भार उनके कंकाल से ज्यादा होता है।
 
Feel free to add your views about these facts on animals and birds.