Friday, June 24, 2016

Anmol Vichar in Hindi

अनमोल विचार, आदर्श वाक्य, अमूल्य वचन, बहुमूल्य कथन. Anmol Vichar in Hindi. Adarsh Vakya, Amulya Vachan, Bahumulya Kathan, Priceless, Precious, Valuable Messages.

Anmol Vichar / अनमोल विचार

  • लेखक/वक्ता के रूप में जब कदम-कदम पर शब्दों की सीमा का भान होने लगता है...और पाठक/श्रोता के रूप में जब चंद शब्द ही असीमित की झलक देने लगते हैं...तब-तब हमारी यात्रा की दिशा स्वयं की ओर होती है। ~ Monika Jain ‘पंछी’ 
  • अपराध होने ही न देना, उसके लिए सजा देने से कहीं बेहतर है। ~ अज्ञात / Unknown 
  • लगातार बीते समय के बारे में सोच-सोचकर अक्सर हम लोग अपना आने वाला भविष्य बिगाड़ बैठते हैं। ~ पर्सियस / Perseus 
  • श्रद्दालु पुरुष ही ज्ञान प्राप्त कर सकता है और ज्ञान प्राप्त होने पर ही इन्द्रियों की संयम- साधना हो सकती है। ~ गीता / Geeta 
  • पापभीरुता एक ऐसा गुण है जिससे अनेक गुणों की प्राप्ति होती है। ~ अज्ञात / Unknown 
  • जितने भी संयोग सम्बन्ध है वे सब अनित्य है। ~ अज्ञात / Unknown 
  • यह सबसे बड़ा आश्चर्य है कि व्यक्ति को स्वयं का अपराध, अपराध नहीं लगता। ~ अज्ञात / Unknown 
  • जो भी तुमसे मांगता है उसे दो, जो तुम्हारा सामान ले जाएँ उनसे दुबारा मत पूछो और जैसा व्यवहार तुम उन लोगों से चाहते हो, वैसा उनके साथ करो। ~ जीसस / Jesus 
  • भला मानव स्वतंत्रता की ह्रदय से चाह रखता है। शेष लोग तो स्वछंदता प्रेमी होते हैं। ~ जॉन मिल्टन / John Milton  
  • योग्यता को छिपाने की कला जानना ही सच्ची योग्यता है। ~ फ्रेंकोइस डे ला रोशेफोकोल्ड / Francois De La Rochefoucauld 
  • मनुष्य अपने गुणों से आगे बढ़ता है न कि दूसरों की कृपा से। ~ लाला लाजपतराय / Lala Lajpat Rai 
  • मनसा, वाचा, कर्मणा किसी को दुःख न पहुंचाओंक्रोध को क्षमा से, विरोध को अनुरोध से, घृणा को दवा से और द्वेष को प्रेम से जीतो। ~ Maharshi Dayanand Saraswati / महर्षि दयानंद सरस्वती 
  • चन्द्रमा अपना प्रकाश सारे आकाश में फैलाता है, परन्तु अपना कलंक अपने ही भीतर रखता है। ~ रवीन्द्र नाथ टैगोर / Rabindranath Tagore  
  • जो एक बार विश्वासघात करे, उसका कभी विश्वास न करो। ~ पंचतंत्र / Panchtantra