Saturday, June 4, 2016

Gender Equality Quotes in Hindi

स्त्री पुरुष समानता. Gender Equality Quotes in Hindi. Inequality Slogans, Sex Discrimination Sayings, Man Woman Bias, Male Female Equal Rights, Ling Bhed.
 
Gender Equality Quotes

  • अभी किसी का कमेंट देखा 'अब लड़कियां हमें धर्म सिखाएंगी? ' अब उस महाशय को कौन बताये कि खाने का पहला निवाला गले में उतारना भी उसे किसी लड़की ने ही सिखाया था। बल्कि नौ महीने उसका भार वहन कर इस दुनिया को देखने का मौका भी उसे किसी लड़की ने ही दिया था। पुरुष के योगदान को नकार नहीं रही। पर ऐसी सोच का क्या किया जाए? 
  • अक्सर यह पोस्ट पढ़ने को मिलती है कि लड़कियों की तो hi, hello, hru पर भी 100-200 लाइक्स आ जाते हैं। कौन होती हैं ये लड़कियां? हमने तो नहीं देखी कभी। और होती भी है तो ये लाइक करने वाले कौन होते हैं? लड़को को ये क्यूँ लगता है कि लड़कियों को सब यूँ ही आसानी से मिल जाता हैं? एक बार पेज पर 10000+ लाइक्स देखकर एक लड़का बोला कि तुम लड़की हो इसलिए तुम्हारे इतने सारे फॉलोअर्स हैं। सच में? अरे भाई! तुम बस यही क्यों देखते हो कि लड़की है। ब्लॉग पर कितनी सारी मेहनत है वो नहीं दिखाई देती तुम्हें? सारे लाइक्स वहीँ से आते हैं। मैंने तो हमेशा यही महसूस किया है कि लड़की होना बहुत मुश्किल होता है। अगर आप अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं करते तो आपके लिए रास्ते बहुत मुश्किल होते हैं, बहुत ज्यादा। मेरी कभी यह तमन्ना तो नहीं रही कि काश! मैं लड़का होती, पर हाँ मैं इतना अच्छे से जानती हूँ कि अगर मैं लड़का होती तो मेरी ज़िन्दगी अभी जो है उससे बहुत आसान होती, बहुत ज्यादा आसान।  
  • कमाल है! क्या ये भी कोई रूल होता है कि लड़की लड़कों को फ्रेंड रिक्वेस्ट नहीं भेज सकती? मुझे तो जिनका भी लेखन प्रभावित करता है...मैं चाहे उन्हें जानती हूँ...चाहे नहीं जानती हूँ..एड कर लेती हूँ। ये तो कभी सोचती ही नहीं कि वो लड़का है या लड़की, और ये भी नहीं सोचती कि मैं लड़की हूँ। 
  • आज जब महिला पुरुष समान अधिकारों की बात हो रही है। ऐसे मैं न केवल लड़के और लड़कियों को समान रूप से आर्थिक आत्मनिर्भरता के लिए तैयार करने की जरुरत है, बल्कि उन्हें घर और बाहर की जिम्मेदारियों के प्रति भी समान रूप से तैयार करना जरुरी है।  
  • हमारे घर पर जो काम वाली आंटी आती हैं, वह अपने साथ अपनी 2-3 साल की बेटी को भी लाती है। बहुत प्यारी दिखती है। 'सपना' नाम है उसका। बच्चे मुझे हमेशा से आकर्षित करते हैं। उससे बात करने और दोस्ती करने की कोशिश की पर बात करना तो दूर वह तो पास भी नहीं आती और डर से दूसरी ओर देखने लगती है। मेरे जीवन की यह पहली घटना है जब किसी बच्चे ने लगातार इस तरह का बर्ताव किया हो क्योंकि बच्चे कैसे भी हो मुझसे बहुत जल्दी घुलमिल जाते हैं और मेरे बहुत अच्छे दोस्त भी बन जाते हैं। सो थोड़ा बुरा फील होना स्वाभाविक था। उसकी मम्मी से बातों ही बातों में पता चला कि एक दिन उसके पिता ने उसे बहुत बेरहमी से पीटा था। तब से ही वह सबसे डरती है और किसी के पास नहीं जाती। कारण पूछने पर बताया उसका लड़का ना होकर लड़की के रूप में पैदा होना। लड़के-लड़की की समानता को लेकर बहुत से लेक्चर पहले हो चुके हैं। निष्कर्ष यह है कि कुछ लोगों की सोच कभी नहीं बदलती। ऐसे में खुद को बहुत असहाय महसूस करती हूँ। खैर! अच्छी बात यह है कि दूर से ही सही पर कुछ दिनों से 'सपना' मुझे देखकर हल्का-हल्का सा मुस्कुराने लगी है। :)
 
 By Monika Jain ‘पंछी’
 
How are these quotes about gender equality?