Wednesday, July 6, 2016

Love at First Sight Poem in Hindi

पहली नज़र का प्यार, प्रेम कविता. Love at First Sight Poem in Hindi. Pehli Nazar Ka Pyar Shayari, Being Prem Quotes, Poetry, Messages, Sms, Status, Rhymes, Lines.

पहली नजर का प्यार

गर्मी के दिन
जब सूरज बरस रहा था बारिश सा
माँ लायी थी पास की दूकान से
बाल धोने को
मुलतानी मिट्टी के कुछ टुकड़े।

ज्यों ही मैंने खोलकर देखा उन्हें
कुछ देर विस्मय से
मुस्कुराती रही मेरी आँखें!
एक अद्भुत सौन्दर्य
को छिटकती वह मिट्टी
बहुत अपनी सी लगी थी मुझे।

भर आया था मेरा रोम-रोम
एक अनोखे आनंद और उल्लास से।
नहीं याद कभी मिट्टी को
देखा हो मैंने इस अहसास से।

पहली नज़र का प्यार
शायद ऐसा ही होता होगा न?

हालाँकि ऐसा नहीं था कि इससे पहले
घर में न लायी गयी हो या
न देखी हो मैंने कभी ऐसी मिट्टी,
पर इससे पहले शायद
न रही हो मेरे पास ऐसी दृष्टि।

इसलिए इसे कह देती हूँ मैं
पहली नज़र का प्रेम!

...और यकीन मानो!
जिस दिन पहली नज़र का यह प्रेम
हमें हो जाएगा प्रकृति के कण-कण से,
हर जीव-अजीव और हर क्षण से...
तो समझना
हम खुद ही हो गए हैं प्रेम

जब पत्थर, मछली, झींगुर, पेड़-पौधे
नदी और फुलवारी...
सब बन जायेंगे परछाईयां हमारी
तो समझना हमने
हारकर भी जीत ली है बाजियां...
सारी की सारी।

By Monika Jain ‘पंछी’

How is this poem about love at first sight?